कैसे करें यूरिन इंफेक्शन का इलाज? (Urine Infection in Hindi)

यूरिन इंफेक्शन या मूत्र मार्ग संक्रमण (Urine Infection) की समस्या आज कल अधिकांश लोगों में देखने को मिल रही है।

ऐसा मुख्य रूप से अनियमित दिनचर्या के कारण होता है और इसके साथ में इसकी वजह से व्यक्ति को पेशाब में जलन भी होती है।

चूंकि, मूत्र मार्ग संक्रमण का संबंध मूत्र तंत्र प्रणाली से है, इसी कारण इसका सही समय पर इलाज कराना काफी महत्वपूर्ण होता है, नहीं तो यह प्रोस्टेट कैंसर जैसी गंभीर बीमारी का कारण भी बन सकता है।

 

हो सकता है कि ज्यादातर लोगों को यूरिन इंफेक्शन की पूरी जानकारी न हो और इसी कारण वे इसका सही तरीके से इलाज न करा पाएं।

तो आइए, इस लेख के माध्यम से हम इस बीमारी की जानकारी प्राप्त करने की कोशिश करते हैं, ताकि लोगों को इसकी जानकारी मिल सके और वे इसका सही समय पर इलाज करा सकें।

 

क्या है यूरिन इंफेक्शन? (Urine Infection in Hindi)

 

यूरिन इंफेक्शन से तात्पर्य ऐसे संक्रमण से है, जो मूत्राशय प्रणाली के किसी भी भाग जैसे गुर्दे, मूत्रवाहिनी (ureters), मूत्राशय (bladder) और मूत्रमार्ग (urethra) इत्यादि में हो सकता है।

अधिकांश संक्रमण मूत्रमार्ग के निचले हिस्से जैसे मूत्राशय और मूत्रमार्ग में ही होते हैं, जो आमतौर पर किसी बैक्टीरिया से होते हैं, लेकिन कुछ संक्रमण फंगी और किसी वायरस की वजह से भी हो सकते हैं।

 

यूरिन इंफेक्शन के लक्षण क्या हैं? (Urine Infection Symptoms in Hindi)

 

किसी भी अन्य बीमारी की तरह मूत्र मार्ग संक्रमण के भी अपने कुछ लक्षण होते हैं, जो इसके शुरू होने का संकेत देते हैं।

इस प्रकार यदि कोई व्यक्ति इन लक्षणों पर विशेष ध्यान दे, तो वह समय रहते इसकी रोकथाम कर सकता है।

 

यदि किसी व्यक्ति को ये 5 लक्षण नज़र आते हैं, तो उसे सावधान हो जाना चाहिए क्योंकि ये मूत्र मार्ग संक्रमण के संकेत हो सकते हैं-

 

  1. बार-बार पेशाब करने जाना- यह यूरिन इंफेक्शन का प्रमुख लक्षण है, जिसमें व्यक्ति को बार-बार पेशाब जाने की जरूरत पड़ती है।

    आमतौर पर, ऐसा गंभीरता से नहीं लिया जाता है, लेकिन ऐसा करना सही नहीं है क्योंकि यह मूत्रमार्ग संक्रमण का कारण बन सकता है।

     

  2. पेशाब करते समय में जलन का होना- यदि किसी व्यक्ति को पेशाब करते समय पर पेशाब में जलन होती है, तो उसे इसकी सूचना डॉक्टर तुरंत देनी चाहिए।
     

  3. पेशाब में खून का आना- कई बार ऐसा भी देखा गया है कि यूरिन इंफेक्शन होने पर कुछ लोगों के पेशाब में खून आता है।

    ऐसी स्थिति में मेडिकल सहायता लेना समझदारी का कदम हो सकता है।

     

  4. पेट के निचले हिस्से में दर्द का होना- मूत्रमार्ग में संक्रमण ऐसे व्यक्ति को भी हो सकता है, जिसके पेट के निचले हिस्से में दर्द होता है।

    अत: पेट दर्द से पीड़ित व्यक्ति को इसकी जांच तुरंत करानी चाहिए।

     

  5. महिलाओं में पैल्विक दर्द का होना- यदि किसी महिला को पैल्विक दर्द होता है तो यह मूत्रमार्ग में संक्रमण का कारण हो सकता है।

    अत: महिला को पैल्विक दर्द का इलाज कराना चाहिए।

 

यूरिन इंफेक्शन के कारण क्या हैं? (Urine Track Inflammation in Hindi)

 

जैसा कि ऊपर स्पष्ट किया गया है कि मूत्रमार्ग संक्रमण की समस्या मुख्य रूप से बैक्टीरिया या वायरस की वजह से हो सकती है, लेकिन इसके अलावा कई अन्य कारणों से भी हो सकती है, जो इस प्रकार हैं-

 

  • महिला का गर्भवती का होना- कई बार, यूरिन इंफेक्शन महिला के गर्भवती होने पर भी हो सकता है।

    इसी कारण महिला को गर्भावस्था में अपनी सेहत का पूरा ख्याल रखना चाहिए और किसी भी तरह की परेशानी होने पर डॉक्टर से संपर्क करना चाहिए।

     

  • खराब भोजन करना- मूत्रमार्ग संक्रमण की समस्या मुख्य रूप से खराब भोजन करने की स्थिति में भी हो सकती है।

    अत: सभी लोगों को ऐसे भोजन से परहेज करना चाहिए, जो सेहत के लिए नुकसानदायक हो।

     

  • गुर्दे में पथरी का होना- यूरिन इंफेक्शन उस व्यक्ति को भी हो सकता है, जो किडनी स्टोन या गुर्दे की पथरी से पीड़ित होता है।

    इसी कारण ऐसे लोगों को अपने गुर्दे का विशेष ध्यान देना चाहिए और इलाज पूरा कराना चाहिए।

     

  • रोग-प्रतिरोधक क्षमता का कमजोर होना- मूत्रमार्ग संक्रमण के होने की संभावना उस स्थिति में भी अधिक रहती है, जब किसी रोग प्रतिरोध क्षमता कमजोर रहती है।
     

  • पेट का खराब रहना- यदि किसी व्यक्ति का पेट खराब रहता है, तो उसे यूरिन इंफेक्शन होने की संभावना अधिक रहती है।

    अत: सभी लोगों को अपने पेट को साफ रखने की कोशिश करनी चाहिए और ऐसी किसी भी चीज़ का सेवन नहीं करना चाहिए, जो उनके पेट के लिए नुकसानदायक हो।


     

यूरिन इंफेक्शन का इलाज कैसे किया जा सकता है? (Urinary Track Inflammation in Hindi)

 

यह सवाल हर उस व्यक्ति के लिए मायने रखता है, जो मूत्र मार्ग के संक्रमण से पीड़ित है।

उसे इस दौरान काफी सारी परेशानियों का सामना करना पड़ता है और उसे ऐसे तरीके की तलाश हर समय रहती है, जिसके माध्यम से वे इससे निजात पा सके।
 

यदि कोई व्यक्ति यूरिन इंफेक्शन से पीड़ित है, तो वे उपचार के इन 5 तरीकों को अपनाकर इस समस्या से निजात पा सकता है-
 

एंटीबायोटिक दवाई लेना- जैसा कि ऊपर स्पष्ट किया गया है कि यूरिन इंफेक्शन की समस्या बैक्टीरिया या वायरस की वजह से हो सकती है।

इस प्रकार इसका इलाज एंटीबायोटिक दवाई का सेवन के माध्यम से किया जा सकता है, जो व्यक्ति को किसी भी तरह के बैक्टीरिया या वायरस के संपर्क में आने से रूकती हैं।

 

  1. घरेलू नुस्खों को अपनाना- यूरिन इंफेक्शन से ग्रस्त व्यक्ति इसका इलाज घरेलू नुस्खों को अपनाकर भी कर सकता है।

    इसके लिए वह पर्याप्त मात्रा में पानी पी सकता है या फिर विटामिन सी युक्त भोजन कर सकता है।

     

  2. आयुर्वेदिक इलाज कराना- वर्तमान समय में आयुर्वेदिक इलाज को किसी भी बीमारी के इलाज के बेहतर तरीके के रूप में देखा जाता है।

    अत: मूत्र मार्ग संक्रमण में आयुर्वेदिक इलाज को कराना लाभकारी तरीका साबित हो सकता है।

     

  3. यूरिन टेस्ट कराना- कई बार, यूरिन इंफेक्शन का इलाज यूरिन टेस्ट के द्वारा भी किया जाता है।

    इस प्रकार, यूरिन टेस्ट मूत्र मार्ग संक्रमण के इलाज में महत्वपूर्ण भूमिका निभा सकता है।

     

  4. यूरेटेरोस्कोपी को कराना- जब यूरिन इंफेक्शन से पीड़ित व्यक्ति को किसी भी तरीके से आराम नहीं मिलता है, तब डॉक्टर उसे यूरेटेरोस्कोपी सर्जरी कराने की सलाह देते हैं।

    इस सर्जरी के माध्यम से मूत्राशय की जांच की जाती है और उसके बाद मूत्र मार्ग संक्रमण का इलाज किया जाता है।



यूरेटेरोस्कोपी की कीमत क्या है? (Ureteroscopy Cost in Hindi)


 

जैसा कि ऊपर स्पष्ट किया गया है कि मूत्रमार्ग संक्रमण के इलाज का सर्वोत्तम तरीका यूरेटेरोस्कोपी नामक सर्जरी है।

जब कोई डॉक्टर किसी व्यक्ति को यूरेटेरोस्कोपी सर्जरी को कराने की सलाह देते हैं, तो उस स्थिति में उस व्यक्ति के मन में यह सवाल जरूर आता है कि इस सर्जरी की कीमत है।

उसके लिए इसका उत्तर काफी महत्वपूर्ण है क्योंकि इसका असर उसकी आर्थिक स्थिरता पर पड़ता है।

 

हो सकता है कि कुछ लोग इसे एक महंगी प्रक्रिया समझें और इसी कारण इसे सही समय पर न करा पाएं। लेकिन यदि उन्हें पता चले कि यह एक किफायती प्रक्रिया है, जिसकी कीमत मात्र 50 से 80 हजार है तो शायद वे भी बेहतर ज़िदगी जी पातें।

 

यह भी देखें- यूरेटेरोस्कोपी सर्जरी के सर्वोत्तम अस्पताल/क्लीनिक

 

यूरेटेरोस्कोपी सर्जरी के जोखिम क्या हो सकते हैं? (Ureterscopy Complications in Hindi)

 

निश्चित रूप से यूरेटोरेस्कोपी एक लाभकारी सर्जरी है, जिसकी सहायता से व्यक्ति को यूरिन इंफेक्शन से निजात मिल जाती है, लेकिन इसके बावजूद किसी भी अन्य प्रक्रिया की भांति इसके भी अपने कुछ जोखिम होते हैं, जिसकी जानकारी हर उस व्यक्ति को होने चाहिए, जिसने या तो हाल ही में इस सर्जरी को कराया है या फिर भविष्य में कराने की योजना बना रहा है।

यदि किसी व्यक्ति ने हाल ही में यूरेटेरोस्कोपी सर्जरी को कराया है या फिर भविष्य में कराने की योजना बना रहा है, तो उसे निम्नलिखित जोखिमों करना पड़ सकता है-

 

  • अत्याधिक मात्रा में रक्तस्राव का होना- इस सर्जरी के बाद कुछ मात्रा में रक्तस्राव का होना सामान्य चीज है, लेकिन कई बार इसकी मात्रा अधिक हो सकती है।

    अधिक रक्तस्राव की स्थिति में अन्य सर्जरी की जरूरत पड़ सकती है।

     

  • पेट में दर्द का होना- अक्सर, यूरेटेरोस्कोपी सर्जरी के बाद कुछ लोगों को पेट में दर्द होता है।

    ऐसी स्थिति में उसे दर्द-निवारक दवाई की जरूरत पड़ सकती है।

     

  • मूत्र प्रणाली में चोट का लगना- यदि किसी व्यक्ति ने हाल ही में मूत्र मार्ग संक्रमण की सर्जरी कराई है, तो इसकी वजह से उसकी मूत्र प्रणाली में चोट लग सकती है।

    हालांकि, इसे दवाईयों के द्वारा ठीक किया जा सकता है।

     

  • हेमतुरिअ का होना- कई बार, ऐसा भी देखा गया है कि इस सर्जरी के बाद कुछ लोगों को हेमतुरिअ (Hematuria) की समस्या हो जाती है।

    हेमतुरिअ से तात्पर्य ऐसी स्थिति से है, जिसमें व्यक्ति के पेशाब में लाल रक्त कोशिकाओं का विकास हो जाता है।

     

  • गुर्दे में पथरी का होना- जैसा कि ऊपर स्पष्ट किया गया है कि यूरिन इंफेक्शन गुर्दे में पथरी की वजह से भी हो सकता है, लेकिन यह परेशान इस सर्जरी के बाद भी बनी रह सकती है।

    हालांकि, इसे किडनी ट्रांसप्लांट के द्वारा ठीक किया जा सकता है, लेकिन फिर भी डॉक्टर इस सर्जरी के दौरान काफी सावधानी बरतनी चाहिए।


यूरिन इंफेक्शन की रोकथाम कैसे की जा सकती है? (Urine Infection Precautions in Hindi)

 

संभवत: मूत्र मार्ग संक्रमण से कई सारे लोग परेशान हैं और इसके कई सारे जोखिम भी हो सकते हैं, लेकिन इसके बावजूद राहत की बात है कि किसी भी अन्य समस्या की तरह यूरिन इंफेक्शन की भी रोकथाम संभव है।

यदि कोई व्यक्ति इन 5 बातों का पालन करता है, तो वह यूरिन इंफेक्शन की संभावना को काफी हद तक कम कर सकता है-

 

  1. पर्याप्त मात्रा में पानी पीना- जैसा कि ऊपर स्पष्ट किया गया है कि यूरिन इंफेक्शन पर्याप्त मात्रा में पानी न पीने की वजह से भी होता है।

    इसी कारण यह जरूरी है कि सभी लोग पर्याप्त मात्रा में पानी पीये ताकि उनके शरीर में पानी की कमी न हो।

     

  2. पेशाब को अधिक समय तक न रोकना- ऐसा पाया गया है कि महिलाएं समय-समय पर पेशाब नहीं करती है क्योंकि इसके लिए उन्हीं सही जगह नहीं मिल पाती है, इसी कारण पुरूषों की तुलना में उनमे यूरिन इंफेक्शन की समस्या अधिक पाई जाती है।

    अत: सभी लोगों (पुरूष और महिला दोनों) को थोड़ी देर (संभवत 2 घंटे में एक बार) पेशाब करना चाहिए ताकि वे सेहतमंद रह सकें।

     

  3. हेल्थी डाइट का सेवन करना- मूत्र मार्ग संक्रमण का अन्य कारण पौष्टिक भोजन का न करना भी होता है।

    अत: सभी लोगों को हेल्थी डाइट को अपनाना चाहिए ताकि उनकी रोग-प्रतिरोधक क्षमता
    (Immunity Power) मजबूत हो सके और वे सेहतमंद रह सकें।

     

  4. गुप्त अंग को साफ रखना- सभी लोगों को अपने गुप्त अंगों का विशेष ध्यान रखना चाहिए क्योंकि इसकी वजह से उन्हीं कई तरह की गंभीर बीमारियों का सामना करना पड़ सकता है।
     

  5. डॉक्टर के संपर्क में रहना- यह सबसे महत्वपूर्ण चीज है, जिसका ध्यान ऐसे सभी लोगों को रखना चाहिए जिन्होंने मूत्र मार्ग संक्रमण की सर्जरी को कराया है।

    उसे तब तक डॉक्टर के संपर्क में रहना चाहिए, जब तक कि डॉक्टर उन्हें पूरी तरह से सेहतमंद घोषित न कर दें।

 

जैसा कि हम सभी यह जानते हैं कि वर्तमान समय में अनियमति दिनचर्या और खराब भोजन के कारण काफी सारी बीमारियां फैल रही हैं, उनमें यूरिन इंफेक्शन या मूत्र मार्ग संक्रमण (Urine Infection) भी शामिल है।

चूंकि, मूत्र मार्ग संक्रमण का संबंध मानवशरीर के गुप्त अंग से होता है, इसी कारण वे इस पर खुलकर बात करने से बचते हैं, लेकिन उनका ऐसा रवैया ही अनगिनत परेशानियों की वजह बन सकता है।

ऐसे में यह जरूरी है कि लोगों के मन में इस आत्मविश्वास को जगाया जाए ताकि वे किसी भी तरह की बीमारी की बात कर सकें और उसका इलाज करा सकें।

 

इस प्रकार हमें उम्मीद है कि आपके लिए इस लेख को पढ़ना उपयोगी साबित हुआ होगा क्योंकि हमने इसमें यूरिन इंफेक्शन की आवश्यक जानकारी देने की कोशिश की है।


यदि आप या आपकी जान-पहचान में कोई व्यक्ति स्वास्थ संबंधी किसी समस्या और उसके उपचार के संभावित तरीकों की अधिक जानकारी प्राप्त करना चाहता है तो वह इसके लिए 95558-12112 पर Call करके उसकी मुफ्त सलाह प्राप्त कर सकता है।