कैसे बढाएं लिंग का आकार? (Penis Enlargement in Hindi)

लिंग का छोटा आकार सुखमय विवाहित जीवन को खराब कर सकता है क्योंकि अक्सर, महिलाओं को इस बात की शिकायत रहती है कि उनके पति उन्हें चरम सुख नहीं दे पाते हैं।

इस बात को लेकर उनके पति भी परेशान रहते हैं और उन्हें ऐसे तरीकों की तलाश रहती है, जिसके माध्यम से वह अपने लिंग के आकार को बढ़ा (Penis Enlargement) सकें।

गुप्त अंग संबंधी समस्या पुरूषों और महिलाओं दोनों को होती हैं। जहां एक ओर, महिलाओं के गर्भाशय में नुकसादायक टिशू विकसित हो जाते हैं, जिसके लिए उन्हें डी एंड सी नामक सर्जरी करानी पड़ती है, तो वहीं दूसरी ओर पुरूष भी अपने लिंग के कम आकार को लेकर परेशान रहते हैं।

 

लिंग का कम आकार ऐसी समस्या है, जिसे बारे में कोई भी पुरूष खुलकर बात करने से बचता है और इसी कारण वह सेक्स समस्या से निजात नहीं पा पाता है।

 

यदि उसे यह पता हो कि वह सही मार्गदर्शन से अपने लिंग के आकार को बढ़ा सकता है, तो शायद उसकी सेक्स लाइफ भी बेहतर होती।

अत: इस प्रस्तुत लेख के माध्यम यह जानने की कोशिश करते हैं कि लिंग के आकार को कैसे बढ़ाया जा सकता है।

 


लिंग के आकार का बढ़ाना क्या है? (Meaning of Penis Enlargement in Hindi)

 


वैज्ञानिक तौर पर प्रत्येक पुरूष के लिंग की औसतन लंबाई 4 से 5 मीटर होती है, तो उत्तेजित होने पर 6 मीटर तक भी हो सकती है।

लेकिन ऐसे बहुत सारे पुरूष है, जिसके लिंग का आकार काफी कम (अर्थात् 2-3 मीटर) तक ही होता है। ऐसे पुरूष इस बात को लेकर काफी तनावग्रस्त रहते हैं और कई बार उन्हें इसकी वजह से अपमानित भी होना पड़ता है।

ऐसी स्थिति को ठीक करने के तरीके को लिंग के आकार को बढ़ाना कहा जाता है, जिसमें पुरूष के लिंग को संतुलित आकार प्रदान किया जाता है, ताकि उसकी सेक्स समस्या ठीक की जा सके।

 

 

लिंग का आकार कम क्यों होता है? (Penis Shrinkage in Hindi)

 

 

ऐसी आम धारणा है कि जैसे व्यक्ति की उम्र बढ़ती है वैसे-वैसे उसकी परेशानियां भी बढ़ने लगती हैं। यह बात पुरूष के लिंग के आकार पर भी लागू होती है, जो विभिन्न तत्वों के कारण कम हो जाती है।
 


यदि किसी पुरूष के लिंग का आकार कम है, जो इसके मुख्य रूप से 5 कारण हो सकते हैं, जो इस प्रकार हैं-


 

  1. अधिक उम्र का होना- जब किसी पुरूष की उम्र बढ़ जाती है तो उसका शरीर कमजोर होता है और उसके शरीर के अंगों की कार्यक्षमता में भी कमी आ जाती है।

    यह बात लिंग पर भी लागू होती है और इसका आकार उम्र के बढ़ने के साथ-साथ कम हो जाता है।


     

  2. वजन का बढ़ना- जिस व्यक्ति का वजन अधिक होता है, उसे स्वास्थ संबंधी कई सारी परेशानियां होने की संभावना रहती है।

    ऐसा लिंग के आकार के संदर्भ में भी होता है और अधिक वजन का असर इस पर भी पड़ता है।


     

  3. प्रोस्टेट सर्जरी को कराना- लिंग का आकार उस स्थिति में भी हो जाता है, जब किसी पुरूष ने प्रोस्टेट सर्जरी कराई होती है।

    प्रोस्टेटे सर्जरी को मुख्य रूप से प्रोस्टेट कैंसर अर्थात् पौरूष ग्रंथि के कैंसर का इलाज करने के लिए किया जाता है।


     

  4. पेरोनी रोग का होना- पेरोनी (Peyronie Disease) को आम भाषा में घुमावदार लिंग की बीमारी कहा जाता है, जो लिंग के भीतर रेशेदार ऊतक के विकसित होेने के कारण होता है।

    जो व्यक्ति इस रोग से पीड़ित होता है, उसमें लिंग के आकार के कम होने की संभावना अधिक रहती है।


     

  5. ध्रूमपान का करना- यदि कोई पुरूष ध्रूमपान अधिक मात्रा में करता है, तो उसका दुष्प्रभाव उसकी सेहत पर पड़ सकता है।

    लिंक का कम आकार ध्रूमपान का परिणाम भी हो सकता है, इसी कारण किसी भी पुरूष को ध्रूमपान नहीं करना चाहिए।

 


लिंग के आकार को कैसे बढ़ाया जा सकता है? (Penis Enlargment Treatments in Hindi)

 


जिस पुरूष के लिंग का आकार कम होता है, वे इसे बढ़ाने के तरीकों की तलाश में रहता है। वे लिंग के आकार और लंबाई को बढ़ाना चाहता है ताकि वह लिंग समस्या का समाधान कर सके।


यदि कोई व्यक्ति लिंग के कम आकार से परेशान है, तो वे इसके लिए कुछ महत्वपूर्ण तरीकों को अपना सकता है, जो इस प्रकार हैं-

 

 

  • दवाई लेना- लिंग के आकार को बढ़ाने में दवाई को भी लिया जा सकता है।

    ये दवाईयां लिंग में टिशू को बढ़ाने में सहायक होती हैं, जिसकी वजह से उसके आकार में बढ़ोतरी होती है।


     

  • आयुर्वेदिक इलाज अपनाना- कई बार ऐसा भी देखा गया है कि लिंग के आकार को बढ़ाने में आयुर्वेदिक इलाज मददगार साबित होता है।

    अत: लिंग के कम आकार से पीड़ित पुरूष आयुर्वेदिक के द्वारा भी लिंग की समस्या से निजात पा सकता है।


     

  • क्रीम का इस्तेमाल करना- आज कल बाजार में लिंग वर्धक काफी सारी क्रीम मौजूद हैं।

    इस प्रकार लिंक के कम आकार से पीड़ित पुरूष इन क्रीमों का इस्तेमाल कर सकता है।


     

  • घरेलू नुस्खों को अपनाना- किसी भी तरह की अन्य बीमारी की तरह लिंग के कम आकार के इलाज में भी घरेलू नुस्खे उपयोगी साबित होते हैं।

    यदि कोई पुरूष अपने मालिश, पौष्टिक भोजन इत्यादि को अपनाता है तो इसकी वजह से उसके लिंग का आकार बढ़ सकता है।


     

  • सर्जरी कराना- जब लिंग के आकार बढ़ाने के लिए कोई भी तरीका कारगार साबित नहीं होता है, तब डॉक्टर पेनिस एनलार्जमेंट सर्जरी की सहारा लेते हैं।

    पेनिस एनलार्जमेंट सर्जरी में लिंग के आकार को सर्जिकल तरीके से बढ़ाया जाता है।

 

 

पेनिस एनलार्जमेंट सर्जरी की कीमत क्या है? (Penis Enlargment Surgery Cost in Hindi)
 

 

जब भी कोई डॉक्टर किसी पुरूष को पेनिस एनलार्जमेंट सर्जरी कराने की सलाह देते हैं, तो उस समय उसके मन में यह सवाल जरूर आता है, कि लिंग के आकार को बढ़ाने की सर्जरी की कीमत क्या है।

हो सकता है, कि कुछ लोग पेनिस एलार्जमेंट सर्जरी को एक महंगी प्रक्रिया समझते हो और इसे कारण वे इसका लाभ नहीं उठा पाए।

लेकिन यदि उन्हें यह पता हो कि यह एक किफायती प्रक्रिया है, जिसकी कीमत मात्र 2.2 से 6 लाख है, तो शायद वे भी इस सैक्स समस्या से निजात पा सके।

 

 

पेनिस एनलार्जमेंट सर्जरी के लाभ क्या हैं? (Penis Enlargment Benefits in Hindi)

 

 

लिंक के कम आकार से परेशान पुरूष के लिए सर्वोत्तम तरीका लिंक के आकार को बढ़ाने की सर्जरी है, जिसके कई सारे लाभ होते हैं, इनमें से कुछ इस प्रकार हैं-


 

  • लिंग को सही आकार देना - यह इस सर्जरी का प्रमुख लाभ है कि इसके माध्यम से लिंग को सही आकार मिल जाता है।

    इस प्रकार पुरूष कई सारी परेशानियों से भी सुरक्षित हो जाता है।


     

  • पुरूष के आत्मविश्वास को बढ़ाना- जैसा कि ऊपर स्पष्ट किया गया है कि लिंक के कम आकार असर पुरूष के मानसिक स्वास्थ पर भी पड़ता है। इसकी वजह से उसका आत्मविश्वास भी कम हो जाता है।

    लेकिन, लिंक के आकार बढ़ाने की सर्जरी के माध्यम से उसका आत्मविश्वास भी बढ़ जाता है और वह अपने कार्य को बेहतर तरीके से कर पाता है।


     

  • विवाहित जीवन को बेहतर बनाना- जब किसी पुरूष के लिंक का आकार बढ़ जाता है, तो वह अपने जीवनसाथी को चरम सुख प्रदान करने में समर्थ हो जाता है।

    इस प्रकार लिंक के आकार को बढाने की सर्जरी पुरूष के विवाहित जीवन को बेहतर बनाने में सहायक साबित होती है।


     

  • पुरूष स्वास्थ्य संबंधी अन्य बीमारियों की संभावना को कम करना- चूंकि, प्रत्येक पुरूष के शरीर का महत्वपूर्ण अंग उसका लिंग होता है, इसी कारण जब उसका आकार बढ़ जाता है, तो उसका असर पुरूष के स्वास्थ पर होता है।

    लिंक के आकार को बढ़ाने वाली सर्जरी के माध्यम से पुरूष में अन्य बीमारियों जैसे प्रोस्टेट कैंसर या पुरूष बांझपन (Male Infertility) की संभावना भी कम हो जाती है और वह सेहतमंद जीवन जी पाता है।


     

  • कम समय लगना-  लिंग के आकार को बढ़ाने की सर्जरी एक छोटी सी सर्जरी होती है, जिसमें काफी कम समय लगता है।

    अत: पेनिस एनलार्जमेंट सर्जरी कराने में पुरूष का ज्यादा समय नहीं लगता है और इस सर्जरी के कुछ समय के बाद डॉक्टर उसे डिस्चार्ज करते हैं।

 


पेनिस एनलार्जमेंट सर्जरी के जोखिम क्या हैं? (Penis lengthening Surgery Side Effects in Hindi)

 

 

निश्चित रूप से लिंग के आकार को बढ़ाने की सर्जरी लिंग की समस्या का समाधान करने का सर्वोत्तम तरीका है, लेकिन इसके बावजूद इसके कुछ जोखिम भी होते हैं, जिनकी जानकारी इस सर्जरी को कराने वाले पुरूष को होनी चाहिए।

 

 

यदि किसी व्यक्ति ने पेनिस एनलार्जमेंट सर्जरी को कराया है, तो उसे ये 5 जोखिम हो सकते हैं-

 

 

  1. मांसपेशियों में दर्द होना- कई बार ऐसा देखा गया है कि लिंक के आकार को बढ़ाने की सर्जरी के बाद पुरूष को थोड़ी परेशानी होती है।

    ऐसी स्थिति में पुरूष के लिंग की मांसपेशियों में दर्द होता है और इसके लिए उसे दर्द-निवारक दवाईयों का सहारा लेना पड़ता है।


     

  2. पेट में दर्द होना- कुछ पुरूषों को पेनिस एनलार्जमेंट सर्जरी कराने के बाद पेट दर्द की शिकायत रहती है।
    हालांकि, इस परेशानी को मेडिकल सहायता से ठीक किया जा सकता है।


     

  3. उच्च रक्तचाप होना- इस सर्जरी के बाद पुरूष के शरीर की कार्यक्षमता पूरी तरह से बदल जाती है।

    पेनिस एनलार्जमेंट के बाद पुरूष को उच्च रक्तचाप (High Blood Pressure) की समस्या रहने लगती है और उस स्थिति में उसे बी.पी की दवाई लेनी पड़ती है।


     

  4. पेशाब का बार-बार आना- पेनिस एनलार्जमेंट सर्जरी का असर पुरूष के मूत्राशय पर भी पड़ता है।

    लिंग के आकार बढ़ाने की सर्जरी की वजह से पुरूष को बार-बार पेशाब करना पड़ता है।


     

  5. कमजोरी महसूस होना- लिंग के आकार बढ़ाने की सर्जरी के असर पुरूष की शारीरिक क्षमता पर भी पड़ता है।

    ऐसी स्थिति में वह काफी जल्दी थक जाता है और उस स्थिति में उसे डॉक्टर से मिलना पड़ता है।

 

 

लिंग को बढ़ाने की सर्जरी के बाद क्या सावधानियां बरतें? (Penis Enlargment Precautioins in Hindi)

 

 

किसी भी अन्य सर्जरी की भांति लिंग को बढ़ाने की सर्जरी अर्थात् पेनिस एनलार्जमेंट सर्जरी के बाद का समय इसे कराने वाले पुरूष के लिए काफी संवेदनशील होता है।

इसी कारण इस दौरान किसी भी तरह की लापरवाही बरतना नुकसानदायक साबित हो सकता है, इसलिए पेनिस एनलार्जमेंट सर्जरी के बाद पुरूष को निम्नलिखित बातों का विशेष ध्यान रखना चाहिए:


 

  • वजन को नियमित रखना- जैसा कि ऊपर स्पष्ट किया गया है कि लिंग के कम आकार का कारण अधिक वजन भी होता है।

    अत: प्रत्येक पुरूष को अपने वजन को नियंत्रित रखना चाहिए और यदि उसका वजन किसी भी तरीके से कम नहीं होता है, तो ऐसी स्थिति में वह बेरियाट्रिक सर्जरी करा सकता है।


     

  • दवाई लेना- जब भी कोई पुरूष लिंक वर्धक सर्जरी को कराता है, तो उसके बाद डॉक्टर उसे कुछ दवाई देता है ताकि उसे किसी तरह की परेशानी न हो।

    अत: उसे उन दवाईयों का सेवन समय पर करना चाहिए, ताकि वह जल्दी से ठीक हो सके।


     

  • संक्रमण से बचना- चूंकि, लिंग के आकार को बढ़ाने की सर्जरी के बाद संक्रमण होने की संभावना रहती है।

    इसी कारण प्रत्येक पुरूष को अपने स्वास्थ का विशेष ध्यान रखना चाहिए और एंटी-बायोटिक दवाईयों का सेवन करना चाहिए।


     

  • यौनिक गतिविधियां न करना- यदि किसी पुरूष ने हाल में ही लिंग के आकार को बढ़ाने की सर्जरी को कराई है, तो उसे कुछ समय के लिए किस तरह की यौनिक गतिविधि नहीं करनी चाहिए।

    यदि वह ऐसा नहीं करता है तो इसका असर उसके लिंग पर पड़ सकता है और उस स्थिति में उसे मेडिकल सहायता की जरूरत पड़ सकती है।


     

  • डॉक्टर के संपर्क में रहना- अंत में यह सबसे महत्वपूर्ण बात है, जिसका ध्यान प्रत्येक उस पुरूष को रखना चाहिए जिसने लिंग के आकार को बढ़ाने वाली सर्जरी कराई है।

    उसे तब तक डॉक्टर के संपर्क में रहना चाहिए जब तक वे उसे पूरी तरह से सेहतमंद घोषित न कर दें।

 

 


जैसा कि हम सभी यह जानते हैं कि प्रत्येक शख्स को अपने जीवन में कभी-न-कभी ऐसी परेशानी से गुजरना पड़ता है, जिसके बारे में बात करना उसके लिए काफी मुश्किल होता है।

लिंग के आकार का कम होना या फिर घुमावदार लिंग ऐसी ही समस्याएं हैं, जो अधिकांश पुरूषों में देखने को मिल रही है।

 

इस समस्या का प्रभाव उनकी शारीरिक के साथ-साथ मानसिक क्षमता पर भी पड़ता है, लेकिन यदि उन्हें यह पता हो कि वह अपने लिंग के आकार को बढ़ा (Penis Enlargment) को बढ़ाकर घुमावदार लिंग की समस्या से भी निजात पा सकते हैं तो शायद वे खुशहाल ज़िदगी जी पाता।

 

यदि आप या आपकी जान-पहचान में कोई पुरूष स्वास्थ संबंधी किसी प्रकार की समस्या और उसके उपचार के संभावित तरीकों की जानकारी प्राप्त करना चाहता है तो वह इसके लिए 95558-12112 पर Call करके उसका मुफ्त परामर्श प्राप्त कर सकता है।