12 घंटे में मिल जाएगा बिना ब्याज का लोन, इलाज में आएगा काम

अगर आप अचानक बीमार हो जाते हैं और अस्पताल में भर्ती होना पड़ता है, लेकिन पैसा न होने के कारण अस्पताल का बिल कैसे चुकाएं, यह बड़ी समस्या बन जाती है।

ऐसे में, यदि कोई आपको अस्पताल में ही 12 घंटे के भीतर बिना ब्याज का लोन दे तो आपके लिए इससे बड़ी राहत क्या हो सकती है।

जी हां, आपने सही सुना। हम लोग अस्पताल में भर्ती मरीजों को बहुत सामान्य सी शर्तों पर लोन दे देते हैं।

हमने अब तक काफी सारे लोगों की सहायता की है और वे भी हमारी सहायता से अपने इलाज को बिना किसी चिंता के करा सकते हैं।

कितना ले सकते हैं लोन

मेडिकल इमरजेंसी होने पर 20 हजार से लेकर 20 लाख रुपए तक का लोन देते हैं। हालांकि, लोन देने की शर्त वही होती है, जो बैंक की होती है।

यानी कि पेइंग कैपेसिटी के आधार पर लोन राशि मंजूर की जाती है। इसका अर्थ है कि आपकी इनकम के आधार पर लोन दिया जाता है।

कितनी देनी होती है प्रोसेसिंग फीस

हम लोग लोन पर कोई ब्याज नहीं लेते, लेकिन प्रोसेसिंग फीस ली जाती है, जो मात्र 1 से 2 फीसदी हाती है।

लोन राशि अधिक होने पर प्रोसेसिंग फीस 0.5 फीसदी तक की भी हो सकती है।
 

400 अस्पतालों में नेटवर्क

हमने जुलाई 2017 में अपना बिजनेस शुरू किया था और अब तक हमारे नेटवर्क में 400 अस्पताल शामिल हो चुके हैं।

दिल्ली-NCR के लगभग सभी बड़े अस्पतालों में हमारा स्टाफ उपलब्ध रहता है, जिनसे जरूरतमंद लोन के लिए संपर्क किया जा सकता है।

 

पहले बनवा सकते हैं कार्ड

हालांकि, कई सारे लोग अपनी सेहत को लेकर जागरूक रहते हैं और इसके साथ में यदि वे यह चाहते हैं कि अस्पताल में भर्ती होने के बाद उन्हें लोन मिलने में कोई दिक्कत न हों तो वे इसके लिए हमसे प्री अप्रूव कार्ड पहले बनवा सकते हैं।

यह कार्ड 999 रुपए में बनवाया जा सकता है, जिसे हर साल रिन्यू भी करवाया जा सकता है।

यह कार्ड धारक अपने परिवार के 8 सदस्यों का साल भर में 5 लाख रुपए तक का इलाज करा सकते हैं।

कैसे लौटाना होगा लोन

लोन लौटाने की प्रक्रिया मासिक होगी। यानि कि आपको मंथली ईएमआई देनी होगी। आपको लोन का पैसा 12 माह से 48 माह के बीच में लौटाना होगा। लोन की अविधि सेंक्शन करते वक्त बता दी जाती है।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *