क्या है पुरुष बांझपन? जाने कारण और इलाज ! (Male Infertility)

आमतौर पर किसी दंपत्ति के संतान सुख न पाने का दोष महिला को ही दिया जाता है, लेकिन संतान पाने के लिए महिला और पुरूष दोनों का सेहतमंद होना आवश्यक होता है, अगर उनमें से कोई एक भी सेहतमंद नहीं है, तो उन्हें संतान सुख नहीं मिल पाता है।  इस समस्या को मेडिकल भाषा में इनफर्टिलिटी कहा जाता है। इनफर्टिलिटी की समस्या पुरूष और महिला दोनों को हो सकती है। पुरूषों को होने वाले बांझपन को मेल इनफर्टिलिटी (Male Infertility) कहा जाता है।

अगर आपको भी मेल इनफर्टिलिटी के बारे में अधिक जानकारी नहीं है, तो इस लेख को ज़रुर पढ़े क्योंकि हमने इस लेख में पुरूष बांझपन क्या है और  पुरूष बांझपन के लक्षण, पुरूष बांझपन का इलाज इत्यादि के बारे में सभी जानकारी दी है।

क्या है पुरुष बांझपन? (Male Infertility- in Hindi)

किसी पुरूष के पिता न बनने की स्थिति को मेल इनफर्टिलिटी कहा जाता है। जिसे आम भाषा में पुरूष बांझपन कहा जाता है। जब किसी पुरूष के गुप्त अंग पर्याप्त मात्रा में स्पर्म को उत्पन्न नहीं कर पाता है, तो इसके परिणामस्वरूप वे दंपत्ति संतान सुख से वंचित रह जाते हैं।

यदि कोई पुरूष पिता नहीं बन पाता है, तो उसे सबसे पहले डॉक्टर से अपने स्वास्थ की अच्छी तरह से जांच करानी चाहिए ताकि इसके सटिक कारण का पता लगाया जा सके।

पुरूष बांझपन के कितने प्रकार होते हैं? (Types of Male Infertility- in Hindi)

पुरूष बांझपन मुख्य रूप से 3 प्रकार होते हैं, जो इस प्रकार हैं-

  1. (स्पर्म) कम शुक्राणु गिनती होने से पुरूष बांझपन का होना
  2. स्पर्म की गुणवत्ता का खराब होने से पुरूष बांझपन का होना
  3. स्पर्म का असमान आकार होने से पुरूष बांझपन का होना

पुरूष बांझपन के लक्षण (Symptoms of Male Infertility- in Hindi)

पुरूष बांझपन के लक्षण कई तरह के होते हैं, जो इस प्रकार हैं-

  • वीर्य (सीमेन) से कम मात्रा में स्पर्म का निकलना
  • स्पर्म के बाहर निकलने में समस्या होना भी पुरूष बांझन के मुख लक्षणों में से एक है
  • यौनिक क्रिया की इच्छा का कम होना
  • अंडकोष में दर्द या सूजन होना
  • चेहरे और शरीर पर बालों का कम होना

पुरूष बांझपन के कारण (Causes of Male Infertility- in Hindi)

पुरूष बांझपन के कारण निम्नलिखित से हो सकते हैं-

  • वीर्य (सीमेन) में स्पर्म का न होना (एजोस्पर्मिया):  स्पर्म कौशिका से एग फर्टिलाइज होता है। वीर्य ही वह पौष्टिक पदार्थ होता है, जो स्पर्म को तैरने में सहायता करता है।

    वीर्य में स्पर्म के न होने पर एग फर्टिलाइज नहीं हो पाता है। ऐसे ही स्तिथि को इनफर्टिलिटी कहा जाता है जो पुरूष बांझपन के कारण होती है।

  • स्पर्म की संख्या का कम होना (ओलिगोस्पर्मिया): किसी व्यस्क में स्पर्म की सामान्य संख्या 15 मिलियन स्पर्म सेल प्रति सीमेन होती है। इस संख्या में कमी होने पर स्पर्म की एग में प्रवेश करने की संभावना कम हो जाती है।

    ऐसी स्थिति होने पर बहुत जल्दी पता लग जाता है की पुरूष बांझपन की समस्या से जूझ रहा है क्योंकि इसमें कम शुक्राणु गिनती होती है।

  • क्लाइनफेल्टर सिंड्रोम जैसे आनुवंशिक कारण का होना: इस सिंड्रोम वाले व्यक्ति में छोटे अंडाकोष (माइक्रोचरिज्म) होते हैं।

    वे टेस्टोस्टेरोन हार्मोन के पर्याप्त स्तर का उत्पादन नहीं कर सकते हैं, जो पुरूष बांझपन (Male Infertility) का कारण बनता है।

  • वीर्य (सीमेन) में कमी होना- वीर्य (सीमेन) से तात्पर्य ऐसे तरल पदार्थ से है, जो शुक्राणु (स्पर्म) को तैरने और गतिशील करने में सहायता करता है। सीमेन स्पर्म को पौषण प्रदान करता है, ताकि वह सक्रिय रहे।

    सीमेन में किसी तरह की कमी होने पर स्पर्म समाप्त हो सकता है और यदि एक पुरूष में स्पर्म समाप्त हो जाता है तब आसानी से डॉक्टर के द्वारा बता दिया जाता है कि वह पुरूष बांझपन से गुज़र रहा है।

  • अंडकोष की नसों में वृद्धि होना (वैरिकोसेले): इस स्थिति में अंडकोष की नसे सूज जाती हैं, जिससे शुक्राणु (स्पर्म) को चलने में मुश्किल होती है। इससे शुक्राणु की गुणवत्ता भी कम हो जाती है।

  • संक्रमण: कुछ संक्रमण के कारण प्रजनन प्रणाली की नसों में चोट के निशान हो जाते हैं और इसकी वजह से वे ऊतक के साथ अवरुद्ध करते हैं।

  • ड्रग और शराब का सेवन करना: यदि कोई पुरूष ड्रग जैसे कोकनी और मारिजुाना का सेवन करता है तो वह उसके स्पर्म की गुणवता और गुणवत्ता में कमी कर सकते हैं।

    इसके साथ में शराब टेस्टोस्टेरोन स्तर को कम करती है, जो स्तंभन दोष का कारण बनता है और शुक्राणु उत्पादन को कम करता है।

पुरूष बांझपन का उपचार कैसे किया जा सकता है? (Treatment of Male Infertility- in Hindi)

पुरूष बांझपन का उपचार कई तरीकों जैसे सर्जरी, हॉर्मोन उपचार, संक्रमण का इलाज, संभोग करने की समस्या का उपचार इत्यादि के द्वारा किया जाता है।

बांझपन का उपचार के तरीकों की संक्षिप्त जानकारी इस प्रकार है-

  1. परामर्श लेना; परामर्श और दवाईयों के द्वारा यौनिक क्रियाओं से संबंधित समस्याओं जैसे शीघ्रपतन या स्तंभन दोष इत्यादि का निवारण संभव है।

  2. एंटी-बायोटिक दवाईयों का सेवन कराना; एंटी-बायोटिक दवाईयों का सेवन रिप्रोडक्टिव ट्रैक के संक्रमण को ठीक करने के लिए किया जा सकता है, लेकिन यह जरूरी नहीं है कि ये इनफर्टिलिटी समस्या में भी कारगर साबित हों।

    यह मुख्य रूप से बांझपन की दवा साबित होती है।

  3. हॉर्मोन उपचार कराना; यदि इनफर्लिटी का कारण हॉर्मोन असंतुलन होता है, तो डॉक्टर उस पुरूष को कुछ दवाईयां और हॉर्मोन पुन:स्थापन की सलाह देते हैं। यह उसकी बांझपन की दवा होती हैं।

  4. सर्जरी कराना; मेल इनफर्टिलिटी से पीड़ित पुरूष को सर्जरी कराने की सलाह डॉक्टर उस स्थिति में देते हैं, जब उसका इलाज किसी अन्य तरीकों जैसे परामर्श, हॉर्मोन उपचार, दवाई इत्यादि से नहीं हो पाता है।

इस स्थिति में आईसीएसआई  (ICSI) सर्जरी की जाती है, जो बांझपन का उपचार करने में करागर साबित होती है।

पुरूष बांझपन के इलाज की लागत (Cost of Male Infertility Treatment- in Hindi)

जैसा कि ऊपर स्पष्ट किया गया है कि पुरूष बांझपन का इलाज कई तरीकों से किया जा सकता है। जब इस समस्या का इलाज अन्य तरीकों के द्वारा संभव नहीं हो पाता है, तब पुरूष बांझपन का समाधान केवल आईसीएसआई (ICSI) के द्वारा ही संभव होता है। चूंकि, अधिकांश पुरूष आईसीएसआई सर्जरी की लागत को लेकर दुविधा में रहते हैं, तो वह इसे कराने से हिचकते हैं। लेकिन, आईसीएसआई सर्जरी एक किफायदी सर्जरी है, जिसकी औसतन लागत 80,000 से 1.5 लाख रूपये तक ही होती है।

आईसीएसआई सर्जरी की लागत कई सारे तत्वों पर निर्भर करती है, जो इस प्रकार हैं-

  1. अस्पताल
  2. पुरूष के स्वास्थ की स्थिति
  3. इलाज का तरीका
  4. डॉक्टर का अनुभव

आज कल पुरूष बांझपन या मेल इनफर्टिलिटी की समस्या काफी फैल रही है, जो मुख्य रूप से आनुवंशिक समस्या, गुप्त अगं में चोट लगना, बाहर के खान-पान, नशीले पदार्थ जैसे शराब और ध्रूमपान इत्यादि का सेवन करने से होती है। चूंकि, उन्हें इस समस्या के बारे में अधिक जानकारी नहीं होती है, इसलिए वे बांझपन का इलाज सही तरीके से नहीं करा पाते हैं।

अगर आप या आपके जान-पहचान में कोई पुरूष इस समस्या से पीड़ित है, तो अतिशीघ्र इसके विशेषज्ञ से मिलें और इसका इलाज कराएं।

अगर आप बांझपन का उपचार करने में आर्थिक रूप से असमर्थ हैं, तो आप Letsmd से 0% की ब्याज दर पर मेडिकल लोन पा सकते हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *