लेज़र हेयर रिमूवल! अनचाहे बालों से छुटकारा पाने का तरीका

हर व्यक्ति (चाहे वह पुरूष हो अथवा महिला हो) की यह इच्छा होती है कि वह आकर्षक दिखें और वह अपने सौंदर्य को बनाए रखने के लिए हर संभव कोशिश करता है। लेकिन वह प्राकृतिक रूप से होने वाले परिवर्तनों को रोक नहीं सकता है और उसे उन परिवर्तनों का सामना करना ही पड़ता है।

जैसे-जैसे किसी व्यक्ति की उम्र बढ़ती है, वैसे-वैसे उसके शरीर में भी काफी परिवर्तन होते हैं, इन परिवर्तनों को मेडिकल भाषा में हॉर्मोन परिवर्तन (हॉर्मोन चेजिस) कहा जाता है।

कुछ लोगों के शरीर में होने वाले हॉर्मोन परिवर्तन के सामान्य परिवर्तन होते है, लेकिन कुछ लोगो में इसके प्रतिकूल परिणाम देखने को मिलते हैं। ऐसा अक्सर देखा गया है कि कुछ लोगों के शरीर में अनचाहे बाल होते हैं और वे उससे काफी परेशान रहते हैं।

कभी-कभी उन्हें इसकी वजह से शर्मिंदा भी होना पड़ता है। ऐसे में वह उन तकनीकों की तलाश करते हैं, जिनसे उन्हें इस समस्या से छुटकारा मिल सके, तब उन्हें लेज़र हेयर रिमूवल के बारे में पता चलता है।

चूंकि, अधिकांश लोगों के लिए यह बिल्कुल नया शब्द होता है, इसलिए वे समय रहते इसे अपना नहीं पाते हैं और उसके बाद वे सिर्फ पचताते रह जाते हैं।

अगर आप भी ऐसी गलती नहीं करना चाहते हैं और समय रहते अवांछनीय बालों की समस्या से निजात पाना चाहते हैं तो फिर आपको यह लेख पूरा पढ़ना चाहिए-

लेज़र से बाल हटाना (Laser Hair Removal in Hindi)

लेज़र से बाल हटाना (लेजर हेयर रिमूवल), लेजर की सहायता से अनचाहे बालों को स्थायी रूप से हटाने की तकनीक है। हालांकि, बालों को अन्य तकनीकों जैसे वैक्सिंग, पल्किंग इत्यादि तकनीकों से भी हटाया जाता है, लेकिन चूंकि ये सभी तकनीके त्वचा पर दुष्प्रभाव डालती हैं और इनसे कुछ समय के लिए बाल हटते हैं।

अत: ऐसी स्थिति में अनचाहे बालों को स्थायी रूप से हटाने के लिए लेज़र से बाल हटाना सब से बेहतर तकनीक साबित होती है।

लेज़र से बाल हटाने के कारण (Reasons for Laser Hair Removal Process in Hindi)

जैसे कि पहले बताया गया है कि उम्र-उम्र बढ़ने के साथ हॉर्मोन में परिवर्तन के कारण बालों का उगना (हेयर ग्रोथ) स्वाभाविक होता है, लेकिन कुछ लोगों (पुरूष और महिला दोनों) में अनचाहे बालों  की अत्याधिक मात्रा होती है।

अगर कोई मरीज निम्नलिखित समस्याओं से पीड़ित है, तब डॉक्टर उसे लेज़र से बाल हटाना कराने की सलाह दे सकते हैं-

  • अनुवांशिक इतिहास का होना – ऐसा कहा जाता है कि बच्चों को कुछ चीजे अपने परिवार से मिलती है। अगर किसी परिवार में कोई सदस्य (पुरूष या महिला) अनचाहे बालों की समस्या से पीड़ित है तो वह समस्या उसकी आने वाली पीढ़ी को होने की अधिक संभावना होती है।
  • असाधारण हॉर्मोन परिवर्तन होना-  जिन लोगों में हॉर्मोन का परिवर्तन असामान्य रूप से होता है, वे अवांछनीय बालों की समस्या से पीड़ित हो सकते हैं। ऐसी स्थिति में डॉक्टर उन्हें लेज़र हेयर रिमूवल करवानी की सलाह देते हैं क्योंकि यह उनके लिए सबसे बेहतर समाधान हो सकता है।
  • कोई बीमारी का होना- जब कोई व्यक्ति अनचाहे बालों की समस्या को लेकर किसी डॉक्टर के पास जाता है तो डॉक्टर उसकी इस समस्या के कारण का पता लगाने की कोशिश करते हैं, इसके लिए वह उसके स्वास्थ्य की जांच करते हैं।
    अगर उस जांच में उसमें किसी बिमारी जैसे थायराइड इत्यादि का पता चलता है, तो वह उसे लेज़र से बाल हटाना (लेज़र हेयर रिमूवल) कराने की सलाह देते हैं क्योंकि उनके शरीर पर अनचाहे बालों का कारण ऐसी कोई बीमारी हो सकती हैं।
  • कोई दवाईयां लेना- मरीज के अनचाहे बालों की समस्या को लेकर डॉक्टर के पास जाने पर, डॉक्टर इस बात का पता लगाते हैं कि क्या उसने कभी बिना किसी डॉक्टर की सलाह के कोई दवाई ली हैं क्योंकि वे दवाइयां खून में हैंड्रोजन की मात्रा को बढ़ा सकती हैं।
  • खान-पान- ऐसा माना जाता है कि किसी भी व्यक्ति के लिए सेहतमंद खाना काफी आवश्यक होता है क्योंकि उसका सीधा असर उसके स्वास्थ्य पर पड़ता है।
    अत: किसी व्यक्ति के शरीर पर अनचाहे बालों का कारण खराब खान-पान हो सकता है। ऐसी स्थिति में डॉक्टर उसे लेज़र हेयर रिमूवल कराने की सलाह दे सकते हैं।

लेज़र हेयर रिमूवल शरीर पर मौजूद अनचाहे बालों को हटाने की प्रक्रिया है। इन दिनों यह प्रक्रिया काफी प्रचलन में है, जिसका लाभ बहुत सारे लोग उठा रहे हैं।

अगर आप भी अपने शरीर में मौजूद अनचाहे बालों की समस्या से परेशान हैं और इसके लिए लेज़र हेयर रिमूवल करवाना चाहते हैं तो इसे करने से पहले आपके लिए यह जानना आवश्यक है कि लेज़र हेयर रिमूवल को कैसे किया जाता है।

लेज़र हेयर रिमूवल की पूर्व प्रक्रिया (Pre-Procedure of Laser Hair Removal-in Hindi)

लेज़र हेयर रिमूवल की प्रक्रिया को शुरू करने से पहले डॉक्टर मरीज़ की त्वचा की अच्छी तरह से जांच करता है जिसमें वह इस बात का पता लगाता है कि क्या त्वचा लेज़र के प्रभाव को सहन कर पाएगी या नहीं। अत: इस जांच में निम्नलिखित चीजों पर ध्यान दिया जाता है-

  • शरीर के अंग की पहचान करना-  लेज़र हेयर रिमूवल प्रक्रिया को शुरू करने से पहले इस बात का पता लगाया जाता है कि शरीर के किस अंग पर इस प्रक्रिया को करना है क्योंकि यह लेज़र तकनीक (लेज़र हेयर रिमूवल) से बाल हटाने की प्रक्रिया के तरीके को निर्धारित करता है।

    दूसरे शब्दों में, शरीर के अंग के अनुसार लेज़र तकनीक (लेज़र हेयर रिमूवल) से बालों को हटाने की प्रक्रिया को किया जाता है।

  • त्वचा के रंग का पता लगाना- डॉक्टर फिर इस चीज की जांच करते हैं कि जिस मरीज़ को लेज़र हेयर रिमूवल कराना है, उसकी त्वचा का कौन-सा रंग है क्योंकि ऐसा माना जाता है कि जिस व्यक्ति की त्वचा का रंग गोरा होता है, उसमें लेज़र हेयर रिमूवल प्रक्रिया अत्यधिक कारगर साबित होती है।

    अत: लेज़र हेयर रिमूवल प्रक्रिया को शुरू करने से पहले त्वचा के रंग का पता लगाना भी आवश्यक होता है।

  • बालों की लंबाई का पता करना- इसके बाद डॉक्टर मरीज़ के बालों की लंबाई की जांच करते हैं ताकि लेज़र हेयर रिमूवल प्रक्रिया के दौरान लेज़र के उपयोग करने के तरीके को सुनिश्चित किया जा सके।

  • बालों को हटाने के अन्य तरीकों से बचना- हालांकि, लेज़र तकनीक (लेज़र हेयर रिमूवल) से बाल को हटाने की प्रक्रिया से पहले डॉक्टर अपनी तरफ से सभी तरह की जांच करते हैं, इसके अलावा मरीज़ को भी लेज़र हेयर रिमूवल प्रक्रिया के लिए तैयार रहना चाहिए।

    उसे लेज़र हेयर रिमूवल प्रक्रिया के शुरू होने से कुछ समय पहले बालों को हटाने के अन्य तरीकों जैसे प्लकिंग, वैकसिंग, इलैक्ट्रोलाइसिस इत्यादि को न करने की सलाह दी जाती है क्योंकि इस प्रक्रिया में लेज़र की किरणें सीधे तौर पर बालोें की जड़ों पर पड़ती हैं, जो बालों को हटाने के अन्य तरीकों से अस्थायी रूप से हट जाती हैं।

  • धूप में अधिक समय तक न रहना- जब कोई व्यक्ति लेज़र से बालों को हटवाने के लिए डॉक्टर  के पास जाता है तो डॉक्टर उसे यह सलाह देते हैं कि वे अधिक समय तक धूप में न रहें क्योंकि अधिक धूप में रहना बालों की जड़ों के लिए नुकसानदेह हो सकता है और जिससे लेज़र हेयर रिमूवल में परेशानी उत्पन्न हो सकती है।

लेज़र तकनीक (लेज़र हेयर रिमूवल) से अनचाहे बालों को हटाने की प्रक्रिया (Procedure of Laser Hair Removal-in Hindi)

लेज़र हेयर रिमूवल की प्रक्रिया को मुख्य रूप से हाथ, पैर, अंडरआर्म्स इत्यादि भागों पर मौजूद अनचाहे बालों को हटाने के लिए किया जाता है।

लेज़र तकनीक (लेज़र हेयर रिमूवल) से बाल हटाने की प्रक्रिया में निम्नलिखित बिंदू शामिल हैं-

  • स्टेप 1; त्वचा के अंग को शेव करना-  यह लेज़र हेयर रिमूवल प्रक्रिया का सबसे पहला बिंदू है जिसमें त्वचा के उस अंग को अच्छी तरह से शेव किया जाता है, जहां पर लेज़र तकनीक से बाल हटाने की प्रक्रिया को करना होता है।

  • स्टेप 2; त्वचा के अंग को आइस पैक या जेल से ठंडा करना- त्वचा के जिस अंग पर इस प्रक्रिया को करना है, उसे शेव करने के बाद आइस पैक या जेल से ठंडा किया जाता है, ताकि गर्म लेज़र से बाहरी त्वचा पर कोई बुरा असर न पड़े।

  • स्टेप 3; त्वचा के अंग पर जेली लगाना- त्वचा के अंग को ठंडा करने के बाद वहां पर जेली लगाई जाती है, ताकि लेज़र हेयर रिमूवल की प्रक्रिया के दौरान लेज़र उपकरण आसानी से चल सके।

  • स्टेप 4; लेज़र को चलाना-  यह लेज़र हेयर रिमूवल की प्रक्रिया का सबसे महत्वपूर्ण बिंदू होता है, जिसमें लेज़र को त्वचा के उस अंग पर केंद्रित किया जाता है, जहां के अनचाहे बालों को हटाना है।

    यह लेज़र उस अंग में मौजूद बालों के फॉलिकल को नष्ट कर देती है, जिससे उस हिस्से पर बाल काफी धीमी गति से उगते हैं। इस दौरान मरीज़ को असहज महसूस हो सकता है और उसे सल्फर जैसी अजीब गंध भी आ सकती है।

  • स्टेप 5; त्वचा के हिस्से को ठंडा करना- यह लेज़र हेयर रिमूवल प्रक्रिया का अंतिम बिंदू होता है, जिसमें त्वचा के हिस्से को बर्फ के टूकड़े से ठंडा किया जाता है क्योंकि लेज़र काफी गर्म होती है और उससे त्वचा पर असर पड़ता है इसलिए उस प्रभाव को कम करने के लिए बर्फ का उपयोग किया जाता है और उसकी गर्माहट को कम किया जाता है।

लेज़र हेयर रिमूवल का खर्च (Cost of Laser Hair Removal-in Hindi)

जब कोई व्यक्ति लेज़र हेयर रिमूवल प्रक्रिया को कराने का निर्णय करता है, तो लेज़र हेयर रिमूवल की प्रक्रिया को करवाने से पहले इसके खर्चे के बारे में जान लेना चाहिए, आमतौर पर, अनचाहे बालों को लेज़र तकनीक से हटाने में 2,000-4,000 प्रति सत्र का खर्चा आता है।

लेज़र हेयर रिमूवल का खर्चा मुख्य रूप से कई तरह के कारकों पर निर्भर करता है, जो इस प्रकार हैं-

  • अस्पताल- इन दिनों कई सरकारी और गैर-सरकारी अस्पतालों में लेज़र हेयर रिमूवल किया जाता है। लेज़र हेयर रिमूवल प्रक्रिया का खर्चा इस बात पर काफी निर्भर करता है कि व्यक्ति किस अस्पताल में इसे करवा रहा है।

    अत: लेज़र हेयर रिमूवल को कराने से पहले अस्पताल का चयन काफी सोच-समझ कर करना चाहिए।

  • क्लीनिक- आज कल हर शहर में ऐसी बहुत सारे क्लीनिक मौजूद हैं, जिसमें आप लेज़र हेयर रिमूवल को करा सकते हैं। हालांकि, इन क्लीनिकों में इस प्रक्रिया का खर्चा अस्पतालों की तुलना में थोड़ा सस्ता होता है लेकिन अगर कोई क्लीनिक रिहायशी इलाके में स्थित हैं, तो उसमें लेज़र हेयर रिमूवल कराना महंगा हो सकता है।

    अत: आप अपने अनचाहे बालों को हटाने के लिए लेज़र हेयर रिमूवल को किसी क्लीनिक में कराना चाहते हैं तो इसका चयन काफी समझदारी से करना चाहिए।

  • लेज़र उपकरण-  विभिन्न जगहों पर मौजूद अस्पतालों और क्लीनिकों में लेज़र हेयर रिमूवल प्रक्रिया को किया जाता है, जिसमें विभिन्न तरह के लेज़र उपकरणों का इस्तेमाल किया जाता है।

    अत: इसका खर्चा मुख्य रूप से इस प्रक्रिया में उपयोग किए जाने वाले लेज़र उपकरण पर निर्भर करता है जैसे जिस जगह पर नई तकनीक के लेज़र उपकरण का उपयोग किया जाता है, वहां पर इस प्रक्रिया का अधिक खर्चा होता है, वहीं दूसरी ओर जिस जगह पर सामान्य लेज़र उपकरण का उपयोग किया जाता है, वहां पर लेज़र हेयर रिमूवल प्रक्रिया को कराने में कम खर्चा आता है।

  • त्वचा के आकार- लेज़र हेयर रिमूवल का खर्चा मुख्य रूप से इस बात पर भी निर्भर करता है कि इसे पूरे शरीर पर करना है या किसी विशिष्ट हिस्से पर। जैसे अगर किसी व्यक्ति को अपने पूरे शरीर पर लेज़र हेयर रिमूवल कराना है तो इसका खर्चा अधिक आता है, वहीं दूसरी ओर अगर किसी व्यक्ति को लेज़र हेयर रिमूवल प्रक्रिया को किसी विशिष्ट अंग पर कराना है तो उसमें कम खर्चा आता है।

  • समय- लेज़र हेयर रिमूवल के खर्चें में समय की महत्वपूर्ण भूमिका होती है। दूसरे शब्दों में अगर इस प्रक्रिया को किसी छोटे हिस्से पर करना है, तो उसमें कम समय लगता है और उस स्थिति में इसका खर्चा काफी कम होता है वहीं दूसरी ओर अगर लेज़र हेयर रिमूवल प्रक्रिया को शरीर के किसी बड़े हिस्से पर करना होता है, तो उसमें अधिक समय लगता है और इस स्थिति में लेज़र हेयर रिमूवल का खर्चा अधिक होता है।

  • सत्र – आमतौर पर, लेज़र हेयर रिमूवल प्रक्रिया को कई सत्रों में किया जाता है, जिसमें लगभग 2-5 सत्र शामिल होते हैं। इस प्रक्रिया में खर्चा मुख्य रूप से प्रत्येक सत्र पर निर्भर करता है।

    अत: अगर शरीर के किसी हिस्से पर मौजूद अनचाहे बालों को हटाने की प्रक्रिया में कम सत्र हैं तो उसका खर्चा भी कम होता है तो वहीं दूसरी ओर अगर शरीर के किस्से के अनचाहे बालों को हटाने के अधिक सत्र हैं, तो उनका अधिक खर्चा होता है।

लेज़र तकनीक (लेज़र हेयर रिमूवल) से बालों को हटाने की प्रक्रिया के फायदे (Benefits of Laser Hair Removal-in Hindi)

लेज़र हेयर रिमूवल बहुत सारे लोगों के लिए लाभदायक साबित हुई है क्योंकि लेज़र हेयर रिमूवल कराने से बहुत सारे लोगों को अनचाहे बालों से पूर्ण रूप से छुटकारा मिलता है। इसके कुछ फायदे भी होते हैं, जो इस प्रकार हैं-

  • सबसे सटीक प्रक्रिया का होना: लेज़र हेयर रिमूवल का सबसे महत्वपूर्ण लाभ है कि यह काफी सटीक प्रक्रिया है। इस प्रक्रिया को शरीर के उसी हिस्से पर किया जाता है, जहां के अनचाहे बालों को हटाना है।

    लेज़र हेयर रिमूवल की प्रक्रिया उस हिस्से के अलावा आस-पास की त्वचा को प्रभावित नहीं करती।

  • सबसे सुरक्षित प्रक्रिया का होना: लेज़र हेयर रिमूवल प्रक्रिया बाल हटाने के अन्य तकनीकों की तुलना में काफी सुरक्षित है क्योंकि यह त्वचा पर कोई दुष्प्रभाव नहीं डालती है।

    इसके अलावा लेज़र हेयर रिमूवल की प्रक्रिया के दौरान मरीज़ को किसी प्रकार का दर्द महसूस नहीं होता।

  • सबसे शीघ्र प्रक्रिया का होना: लेज़र हेयर रिमूवल की पूरी प्रक्रिया काफी जल्दी पूरी हो जाती है।

    लेज़र की प्रत्येक पल्स कुछ मिनट के लिए चलती है और एक बार में काफी सारे बालों को ठीक कर देती है। लेज़र हेयर रिमूवल की प्रक्रिया में शरीर के हिस्सों पर मौजूद अनचाहे बालों को हटाने में काफी कम समय लगता है।

  • बालों की वृद्धि दर को कम करना-  चूंकि, बालों को हटाने के अन्य तकनीकों से कुछ दिनों में बाल फिर से उग आते हैं, वहीं लेज़र हेयर रिमूवल से बाल फिर से कम दर से उगते हैं क्योंकि यह प्रक्रिया बालों की जड़ो को नष्ट कर देती है।

    जिसकी वजह से बालों की जड़ों को फिर से बनने में समय लग जाता है और बाल धीमी गति से आते हैं।

लेज़र तकनीक से बालों को हटाने की प्रक्रिया के नुकसान (Side-effects of Laser Hair Removal-in Hindi)

अन्य मेडिकल तकनीक की तरह लेज़र से बाल हटाने की सर्जरी (लेज़र हेयर रिमूवल) के भी कई नुकसान होते हैं, जो इस प्रकार हैं-

  1. खुजली- कई मरीज़ों को इस प्रक्रिया से त्वचा के उस हिस्से पर खुजली हो सकती है, जहां पर इसे कराया गया है।

  2. सूजन- कभी-कभी लेज़र से बाल हटाने की प्रक्रिया के बाद शरीर का वह हिस्सा सूज सकता है, जिस पर इस प्रक्रिया को किया गया है।

  3. छाले- चूंकि, इस प्रक्रिया को शरीर के विभिन्न अंगों पर किया जाता है। अगर इस प्रक्रिया को चेहरे या ऊपरी या होठ के निचले या ऊपरी हिस्से पर कराया जाए तो इससे से उन हिस्सों पर छाले भी हो सकते हैं।

  4. एलर्जी– कई सारे मरीज यह शिकायत करते हैं कि उन्हें लेज़र हेयर रिमूवल कराने के बाद एलर्जी होने लगी है। लेकिन ऐसा काफी कम मामलों में ही पाया जाता है

  5. त्वचा का लाल पड़ जाना- जैसा कि स्पष्ट है कि इस पूरी प्रक्रिया को लेज़र के माध्यम से किया जाता है और लेज़र से निकलने वाली किरणें काफी गर्म होती हैं।

    इन गर्म किरणों के शरीर के संपर्क में आने से वह हिस्सा लाल पड़ सकता है।

लेज़र हेयर रिमूवल प्रक्रिया की सावधानियां (Precautions of Laser Hair Removal-in Hindi)

लेज़र हेयर रिमूवल कराने वाले व्यक्ति को इस प्रक्रिया से पहले और बाद में निम्नलिखित सावधानियां बरतनी चाहिए-

  • धूप से बचें- चूंकि, लेज़र तकनीक से बाल हटाने की प्रक्रिया आपके शरीर के बालों की जड़ों को नष्ट कर देती है, ऐसे में सूरज की किरणे लेज़र के असर को कम कर सकती हैं।

    अत: इसे कराने के कुछ समय (कम-से-कम एक महीना) के बाद तक धूप में जाने से बचें और अगर जाना जरूरी है तो शरीर के उस हिस्से को अच्छी तरह से ढक कर जाएं जिस पर इस प्रक्रिया को किया गया है।

  • मेकअप/क्रीम का इस्तेमाल न करें- अगर आप एक महिला हैं और आपने इस प्रक्रिया को अपने चेहरे पर मौजूद अनचाहे बालों को हटाने के लिए कराया है तो आपको कुछ समय के लिए अपने चेहरे पर कोई मेकअप नहीं करना चाहिए और इसके साथ में उस पर किसी प्रकार की क्रीम को भी नहीं लगाना चाहिए क्योंकि ऐसा करना आपके चेहरे के लिए नुकसानदायक हो सकता है।

  • बालों को हटाने के अन्य तरीकों को न अपनाएं- इस प्रक्रिया में यह एकमात्र ऐसा बिंदू है, जिसका पालन इस प्रक्रिया से पहले और बाद दोनों स्थितियों में पूर्ण रूप से किया जाना चाहिए।

    जहां एक ओर आपको अपने शरीर को इस प्रक्रिया के लिए तैयार करने के लिए बालों को हटाने के किसी अन्य तरीकों का उपयोग नहीं करना चाहिए, वहीं दूसरी ओर इस प्रक्रिया के बाद किसी तरह के जोखिम से त्वचा को बचाने के लिए बालों को हटाने के अन्य तरीकों को नहीं अपनाना चाहिए।

  • दवाईयों का सेवन न करें- इस प्रक्रिया को करवाने वाले लोगों में से कई सारे लोग बड़ी बेसब्री से इसके परिणाम का इंतजार करते हैं, लेकिन जब उन्हें जल्दी से इसका परिणाम नजर नहीं आता है तो वे अन्य दवाईयों का सेवन करते हैं और उसके परिणामस्वरूप उन्हें कई तरह की परेशानियों का सामना करना पड़ता है।

    अत: आप ऐसी गलती न करें, थोड़ा सब्र रखें और बिना अपने डॉक्टर की सलाह लिए किसी भी तरह की दवाई का सेवन न करें।

  • डॉक्टर के संपर्क में रहें- ऐसा माना जाता है कि अगर किसी व्यक्ति को किसी भी तरह के इलाज से जल्दी ठीक होना है तो उसे तब तक अपने डॉक्टर के संपर्क में रहना चाहिए, जब तक डॉक्टर उसे स्वस्थ घोषित न कर दे।

जैसा कि हम सभी यह जानते हैं कि प्रत्येक व्यक्ति यही चाहता है कि उसका सौंदर्य सबसे अलग है और वह उसे बनाए रखने के लिए सभी तरह के तरीकों जैसे प्लकिंग, वैक्सिंग, थ्रेडिंग इत्यादि का इस्तेमाल करता है, लेकिन जब उसे इन सभी तरीकों से लाभ नहीं मिलता है, तब डॉक्टर उसे लेज़र हेयर रिमूवल कराने की सलाह देते हैं।

चूंकि, अधिकांश लोगों को लेज़र हेयर रिमूवल की पूर्ण जानकारी नहीं होता है इसलिए वे इसे कराने से हिचकते हैं।

इस प्रकार हमें उम्मीद है कि आपके लिए इस लेख को पढ़ना उपयोगी साबित हुआ होगा क्योंकि हमने इस लेख में लेज़र हेयर रिमूवल की संपूर्ण जानकारी देने की कोशिश की है।

यदि आप या आपकी जान-पहचान में कोई व्यक्ति लेज़र हेयर रिमूवल के बारे में अधिक जानकारी प्राप्त करना चाहता है तो वह इसके लिए +91-8448398633 पर Call करके इसकी मुफ्त सलाह प्राप्त कर सकता है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *