जानें! महिलाओं में बालों के झड़ने के कारण और इलाज

आज कल महिलाओं में बालों से संबंधित कई समस्याएं फैल रही हैं, जिनमें बालोें का झड़ना (Hair Fall in Hindi) भी शामिल है।

हालांकि, बहुत सारी महिलाएं बालों के झड़ने की समस्या को केवल पुरूषों से संबंधित मानती हैं, इसी कारण वे इस समस्या को गंभीरता से नहीं लेती हैं, लेकिन सच तो यह है कि यह समस्या पुरूषों के साथ-साथ महिलाओं को भी हो सकती है।

बालों के झड़ने के कई कारण हो सकते हैं, जिनमें केमिकल उत्पादों का उपयोग करना, बालों को रंगना इत्यादि शामिल हैं।

इसी कारणवश इस समस्या को गंभीरता से लेना और इसका सही इलाज कराना बेहतर होता है।

बहुत सारी महिलाओं के मन बालों के गिरने की समस्या से संबंधित कई सारी शंकाएं रहती हैं, जिसे लेकर वे काफी परेशान रहती हैं।

यदि आप भी बालों के गिरने की समस्या के बारे में संपूर्ण जानकारी प्राप्त करना चाहती हैं, तो इसके लिए आपको इस लेख को अवश्यक पढ़ना चाहिए।

 


महिलाओं में बालों का झड़ना क्या होता है? (Female Hair Loss in Hindi)

 


महिलाओं में क्रमिक गंजेपन को एंड्रोजेनेटिक एलोपेसिया के नाम से भी जाना जाता है। यह बालों के झड़ने का ऐसा प्रकार होता है, जो मुख्य रूप से महिलाओं में ही देखने को मिलता है।

 

यह पुरुष के क्रमिक गंजेपन के समान है, जिसमें केवल यह अंतर होता है कि इस स्थिति में महिलाएं में पुरुषों तुलना में एक अलग क्रम में बाल कम होते हैं।

 

महिलाओं में उम्र के साथ बालों का झड़ना सामान्य चीज होती है, लेकिन लगभग दो तिहाई महिलाओं में रजोनिवृत्ति (Menopause) के बाद बालों के झड़ने की समस्या देखने को मिलती है।


 

महिलाओं में बालोें के झड़ना के कौन-कौन से कारण होते हैं? (Causes of Hair Fall in Women in Hindi)
 

 

महिलाओं में बालों का झड़ना विभिन्न कारणों से हो सकता है, जिनमें से कुछ इस प्रकार हैं-

 

  1. अत्याधिक वजन होना

     

  2. दवाईयों का सेवन करना

     

  3. थायराइड जैसे बीमारी का होना

     

  4. डायबटिज (मधुमेह) जैसी बीमारी का होना

     

  5. पी.सी.ओ.सी (Polycystic ovarian syndrome)

 


महिलाओं में बालोें के झड़ना के कौन-कौन से लक्षण होते हैं (Symtoms of Female Hair Loss in Hindi)
 

 

महिलाओं में बालों के झड़ने के कुछ प्रमुख लक्षण होते हैं, जिनमें से कुछ इस प्रकार हैं-

 

  • सिर के बीच वाले हिस्से से बालों का कम हो जाना

     

  • बालों का पतला होना

     

  • शैंपू करते समय बालों का अधिक मात्रा में झड़ना

     

  • बालों को कंघी करते समय बालों का अधिक मात्रा में झड़ना

     

  • अचानक से बालों का झड़ना

 

 

महिलाओं में बालों के गिरने का इलाज कैसे किया जा सकता है? ( Female Hair Fall Treatment in Hindi)
 

 

जिस तरह से महिलाओं में बालों के झड़ने के विभिन्न कारण होते हैं, उसी प्रकार से विभिन्न महिलाओं के लिए इसके लिए इलाज के तरीके भी अलग-अलग होते हैं।

औसतन रूप से महिलाओं में बालों के गिरने की समस्या का इलाज इन 5 तरीकों से किया जा सकता है, जो इस प्रकार हैं-


 

  1. बालों की अच्छी तरह से मालिश करना- बालों के झड़ने की समस्या बालों में पोषण की कमी के कारण होती है।

    बालों की अच्छी तरह से मालिश करना कारगार साबित होता है, क्योंकि इससे बालों को आवश्यक पोषण प्राप्त होता है।


     

  2. पौष्टिक भोजन करना- ऐसा देखा गया है कि बालों के झड़ने की समस्या में उन महिलाओं में अधिक होती है, जो पौष्टिक भोजन नहीं करती हैं।

    डॉक्टर ऐसी महिलाओं को पौष्टिक भोजन करने की सलाह देते हैं।


     

  3. तनाव न लेना- तनाव बालों के झड़ने का प्रमुख कारण होता है।

    इससे छुटकारा पाने के लिए तनाव न लेना बेहतर विकल्प हो सकता है।


     

  4. दवाई लेना - कई बार जब बालों के झड़ने की समस्या में अन्य उपाय कारगार साबित नहीें होते हैं, ऐसी स्थिति में इस समस्या से पीड़ित महिला को डॉक्टर कुछ दवाई देते हैं।

     

  5. बाल प्रत्यारोपण (हेयर ट्रांसप्लांट) कराना- बाल प्रत्यारोपण (हेयर ट्रांसप्लाट) बालों की समस्या को ठीक करने में वरदान है।

    अत: बालों के झड़ने की समस्या को बाल प्रत्यारोपण (हेयर ट्रांसप्लांट) के द्वारा ठीक किया जा सकता है।

 


महिलाओं में बालों को झड़ने से रोकने के लिए किन तरीकों को अपनाना चाहिए? (Solutions of Female Hair Loss in Hindi)
 

 

महिलाओं में बालों के झड़ने को रोकने के लिए इन 7 तरीकों को अपनाना उपयोगी साबित हो सकता है-

 

  1. बालों की मालिश करना- यदि आप बालों के झड़ने की समस्या से परेशान हैं, तो इसमें बालों की मालिश करना बेहतर विकल्प साबित हो सकता है।

     

  2. दवाई खाना- जब बालों का झड़ना किसी अन्य तरीकों से नहीं रूकता है तब डॉक्टर महिला को दवाई खाने की सलाह देते हैं।

     

  3. जंक फूड से परहेज करना- हेयर फॉल को रोकने के लिए जंग फूड को न खाना बेहतर विकल्प होता है।

     

  4. सेहतमंद भोजन करना- सेहतमंद भोजन से बालों का झड़ना रोका जा सकता है।

     

  5. घरेलू नुस्खों को अपनाना- बालों को झड़ने से रोकने में घरेलू नुस्खे कारगर साबित होते हैं।

     

  6. पर्याप्त मात्रा में पानी पीना- कई बार डॉक्टर बालों की समस्या से पीड़ित महिलाओं को पानी पीने की भी सलाह देते हैं।

     

  7. हफ्ते में दो बार शैंपू लगाना- चूंकि, बालों के कमजोर होने के कारण वह टूटते हैं, इसी कारण डॉक्टर महिला को हफ्ते में दो बार शैंपू लगाने की सलाह देते हैं।



जैसा कि हम सभी यह जानते हैं कि आज कल बालों का झड़ना महिलाओं में भी देखने को मिल रहा है।

चूंकि, ज्यादातर महिलाओं को हेयर फॉल के लिए अच्छे बाल विशेषज्ञ (Dermatologist in Hindi) की जानकारी नहीं होती है, इसलिए वे बाल गिरने का इलाज नहीं करा पाती हैं।

हालांकि, वे बाल गिरने का इलाज करने के लिए बहुत सारे तरीकों जैसे दवाई लेना, मेडिकल उत्पादों का सेवन करना इत्यादि को अपनाते हैं, जो उनके लिए काफी महंगे और अनपुयोगी साबित होते हैं।

अगर आप या आपकी जान-पहचान में कोई महिला बालों के गिरने की समस्या से परेशान है तो किसी भी तरह के कदम को उठाने से पहले बाल विशेषज्ञ से मिलें और इसका इलाज शुरू कराएं।

यदि आपको बाल के झड़ने की समस्या से संबंधित अधिक जानकारी चाहिए तो इसके लिए 95558-12112 पर Call करके मुफ्त परामर्श ले सकती हैं और अगर आप इलाज कराने में आर्थिक रूप से असमर्थ हैं तो इसके लिए Letsmd से 0% की ब्याज दर पर मेडिकल लोन ले सकती हैं।