कैसे पाएं हाई कोलेस्ट्रॉल से छुटकारा ? (High Cholesterol in Hindi)

हाई कोलेस्ट्रॉल (High Cholestrol) की बीमारी होने की संभावना उन लोगों में अधिक रहती है, जिनका खानपान सही न हो या फिर वे डायबिटीज से पीड़ित हो।

 

अभिनव एक टीनएजर है, जिसे खाने-पीने का शौक है। उससे उसकी हॉबी के बारे में पूछने पर वह यही जवाब होता है कि उसे भोजन करना पसंद है।

उसकी ज़िदगी का यही दस्तूर है कि जितना हो सके उतना खाए। यह सिलसिला काफी समय तक चलता रहा और एक दिन उसके पेट में काफी दर्द हुआ।

जब उसके मा-बाप उसे डॉक्टर के पास गए, तो उन्होंने का हेल्थ चेकअप करने के बाद उन्हें बताया कि उनके बच्चे को हाई कोलेस्ट्रॉल की बीमारी है।

अभिनव के मां-बाप के लिए यह खबर काफी चौकाने वाली थी क्योंकि उन्हें ऐसा लगता था कि उनका बच्चा काफी छोटा है और इस उम्र में उसे कोई भी बीमारी नहीं हो सकती है।

लेकिन, डॉक्टर उन्हें यह समझाया कि आज कल के फास्ट फूड की वजह से कई सारी बीमारियां फैल  रही हैं, जिनमें हाई कोलेस्ट्रॉल भी शामिल है।

टाइम्स ऑफ इंडिया की वेबसाइट पर प्रकाशित रिपोर्ट के अनुसार भारत में लगभग 80 प्रतिशत लोग उच्च कोलेस्ट्रॉल से पीड़ित हैं।

यह आंकड़े भारत में इस बीमारी की भयावह स्थिति को बयां करने के लिए काफी है।
 
लेकिन, इसके बावजूद यह दुख की बात है कि लोगों में इसके प्रति जागरूकता की कमी है।

यदि इसका इलाज सही न किया जाए तो यह दिल के दौरे (Heart Attack) का कारण भी बन सकता है।

 

अत: यह जरूरी है कि लोगों को इस बीमारी की जानकारी दी जाए ताकि वे इसके प्रति जागरूक रह सके और यदि कभी उन्हें बीमारी हो जाए तो उस स्थिति में वे इसका इलाज सही तरीके से करा सके।


यदि आप भी हाई कोलेस्ट्रॉल की जानकारी से अनजान हैं, तो आपको इस लेख को जरूर पढ़ना चाहिए क्योंकि हमने इसमें इस बीमारी की आवश्यक जानकारी देने की कोशिश की है।

 

क्या है हाई कोलेस्ट्रॉल? (What is High Cholestrol in Hindi)

 

हाई कोलेस्ट्रॉल ब्लड में मौजूद ऐसा पदार्थ होता है, जो सेहतमंद सेलों के बनने में सहायक साबित होता है।

लेकिन, जब यह कोलेस्ट्रॉल संतुलित (ज्यादा या कम) हो जाता है, तो उसका असर शरीर पर काफी बुरा पड़ता है।

 

शरीर के कोलेस्ट्रॉल के हाई होने पर व्यक्ति को दिल का दौरा पड़ना, ब्लड वैसेल का बनना जैसे हेल्थ प्रॉब्लम हो सकती हैं।

अत: यह जरूरी है कि कोई भी व्यक्ति इस समस्या को नज़रअदाज़ न करे और इसका इलाज सही समय पर शुरू कराए।

 

हाई कोलेस्ट्रॉल के लक्षण क्या हैं? (High Cholestrol Symptoms in Hindi)

 

आमतौर पर, हाई कोलेस्ट्रॉल से पीड़ित ज्यादातर लोग यह शिकायत करते हैं कि उन्हें यह पता ही न चला कि उन्हें कब यह बीमारी हुई।


लेकिन, यदि वे इन 5 लक्षणों पर ध्यान दें, तो इससे निजात पा सकते हैं-

 

  1. स्किन का पीला पड़ना- यह हाई कोलेस्ट्रॉल का प्रमुख लक्षण है, जिसमें व्यक्ति की स्किन का रंग पीला पड़ जाता है।

    इसे पीलिया समझने की वजह से इसका सही इलाज नहीं किया जाता है।

    इसी कारण यदि किसी व्यक्ति की त्वचा  का रंग अचानक से पीला पड़ जाता है तो उसे इसे नज़रअदाज़ न करते हुए उसका सही इलाज कराना चाहिए।

     

  2. हाथ-पैर में दर्द होना- यदि किसी व्यक्ति के हाथ-पैरों में दर्द होता है, तो उसे इसकी सूचना अपने डॉक्टर को तुरंत देनी चाहिए ताकि वे इसका इलाज सही तरीके से कर सकें।
     

  3. गर्दन और सिर के पिछ्ले हिस्से में दर्द होना- हाई कोलेस्ट्रॉल का अन्य लक्षण गर्दन और सिर के पिछले हिस्से में दर्द होना भी है।

    किसी भी व्यक्ति को इस समस्या को नज़रअदाज़ न करते हुए इसका की जांच तुरंत करानी चाहिए ताकि उसे अन्य किसी गंभीर बीमारी का सामना न करना पड़े।

     

  4. वजन का लगातार बढ़ना- आम धारणा के अनुसार जिस शख्स का वजन अधिक होता है, उसमें कई सारी बीमारियों के होने की संभावना काफी अधिक होती है।

    यह बात हाई कोलेस्ट्रॉल पर भी लागू होती है क्योंकि हाई कोलेस्ट्रॉल के ऐसे बहुत सारे मामले देखने को मिलते हैं जिनमें इस बीमारी  होने का मुख्य कारण वजन का अधिक होता है।

     

  5. दिल की धड़कनों का तेज़ी से चलना- कई बार, हाई कोलेस्ट्रॉल दिल की धड़कनों के अनियमित तरीके से चलने की वजह से होती है।

    आमतौर पर, लोग इसकी ओर ध्यान न देते हुए इसे हाई ब्लड प्रेशर समझ लेते हैं, लेकिन ऐसा हाई कोलेस्ट्रॉल की वजह से भी हो सकता है।


 

हाई कोलेस्ट्रॉल किस वजह से होता है? (High Cholestrol Causes in Hindi)

 

हाई कोलेस्ट्रॉल की बीमारी निम्नलिखित वजह से होती है-

 

  • खराब भोजन करना- हाई कोलेस्ट्रॉल की समस्या मुख्य रूप से खराब भोजन करने की वजह से होती है।

    खराब भोजन का हमारे शरीर पर काफी बुरा असर पड़ता है और उस स्थिति में हमें हाई कोलेस्ट्रॉल जैसी कई सारी बीमारियां भी हो सकती हैं।

     

  • वजन का अधिक होना- जैसा कि ऊपर स्पष्ट किया गया है कि हाई कोलेस्ट्रॉल की बीमारी अधिक वजन वाले लोगों में अधिक देखने को मिलती है।
     

  • स्मोकिंग करना- यदि कोई व्यक्ति नियमित रूप से स्मोकिंग करता है तो उसे हाई कोलेस्ट्रॉल होने की संभावना काफी अधिक रहती है।
     

  • एक्सराइज़ न करना- हर रोज़ एक्सराइज़ न करना भी हाई कोलेस्ट्रॉल की बीमारी की वजह बन सकती है।
     

  • तनाव लेना- अगर कोई शख्स ज्यादा तनाव लेता है, तो उसे हाई कोलेस्ट्रॉल जैसी गंभीर बीमारी होनी की संभावना काफी बढ़ जाती है।

 

हाई कोलेस्ट्रॉल का इलाज कैसे करें? (High Cholestrol Side-Effects in Hindi)

 

हालांकि, हाई कोलेस्ट्रॉल की समस्या से अधिकांश लोग पीड़ित हैं, लेकिन यदि उन्हें इसके इलाज के सही तरीकों की जानकारी हो तो शायद वे भी इससे निजात पा सकें।


अत: यदि कोई व्यक्ति कोलेस्ट्रॉल की बीमारी से पीड़ित है, तो वह इलाज के इन 5 तरीकों के द्वारा हाई कोलेस्ट्रॉल का इलाज करा सकता है-

 

  1. घरेलू नुस्खे अपनाना- किसी भी अन्य बीमारी की तरह हाई कोलेस्ट्रॉल का इलाज भी घरेलू नुस्खे के द्वारा संभव है।

    हाई कोलेस्ट्रॉल को तेलयुक्त भोजन करके कम किया जा सकता है।

     

  2. योगासान करना- वर्तमान समय में योगा को हर बीमारी के इलाज का सर्वोत्तम तरीका माना जाता है।

    हाई कोलेस्ट्रॉल को कई योगासान जैसे कपालभाती प्राणायाम, चक्रासान, सर्वांगासान इत्यादि को किया जा सकता है।

     

  3. आयुर्वेदिक इलाज कराना- हाई कोलेस्ट्रॉल को आयुर्वेदिक तरीके से भी ठीक किया जा सकता है।
     

  4. दवाई लेना- कई बार, डॉक्टर हाई कोलेस्ट्रॉल का इलाज करने के लिए लोगों को दवाईयां भी देते हैं।

    ये दवाईयां शरीर में कोलेस्ट्रॉल के स्तर को बनाए रखने और उसे शरीर के अन्य अंगों पर न फैलने देने से रोकती हैं।

     

  5. होम्योपेथिक इलाज कराना- अक्सर, हाई कोलेस्ट्रॉल का इलाज को अपनाया जाता है।

    लोगों को होम्योपेथिक के प्रति विश्वसीनता काफी तेज़ी से फैल रही है और इसी कारण वे इसे काफी प्राथमिकता देते हैं।


 

हाई कोलेस्ट्रॉल के साइड इफेक्टस क्या हो सकते हैं? (High Cholestrol Side-Effects in Hindi)

 

ऐसा माना जाता है कि किसी भी व्यक्ति के लिए स्वास्थ संबंधी किसी समस्या को नज़रअदाज़  करना उसे किसी गंभीर स्थिति में डाल सकता है।


यह बात हाई कोलेस्ट्रॉल पर भी लागू होती है क्योंकि इसकी वजह से लोगों को निम्नलिखित साइड इफेक्टस का सामना करना पड़ सकता है-

 

  • मैमोरी का कमजोर होना- यदि हाई कोलेस्ट्रॉल का इलाज सही समय पर न किया जाए तो इसका असर शरीर के अन्य अंगों पर भी पड़ सकता है।

    इसकी वजह से कई  सारे ऐसे मामले देखने को मिलते हैं, जिनमें लोगों की मौमोरी कमजोरी हो जाती है।

     

  • सीने में दर्द होना- हाई कोलेस्ट्रॉल का अन्य साइड इफेक्ट्स सीने में दर्द होना भी है।

    यदि यह समस्या लंबे समय तक रहे तो फिर यह किसी भी व्यक्ति के लिए गंभीर रूप ले सकता है।

     

  • ब्लड फ्लो का धीमा होना- किसी व्यक्ति के ब्लड फ्लो का धीमा होना हाई कोलेस्ट्रॉल का साइड इफेक्ट्स हो सकता है।
     

  • पेट दर्द होना- आमतौर पर, पेट दर्द को गंभीरता से न लेते  हुए उसका सही इलाज नहीं कराया जाता है।

    लेकिन, कई बार पेट दर्द का कारण हाई कोलेस्ट्रॉल भी हो सकता है।

     

  • जबड़े में दर्द होना- हाई कोलेस्ट्रॉल की वजह से कुछ लोगों को जबड़े में दर्द भी हो सकता है।

    अत: यदि किसी व्यक्ति को यह समस्या होती है, तो उसे इसे नज़रअदाज़ नहीं करना चाहिए  बल्कि उसका सही तरीके से इलाज करना चाहिए।


 

हाई कोलेस्ट्रॉल को कैसे कंट्रोल करें? (High Cholestrol Treatments in Hindi)

 

जैसा कि ऊपर स्पष्ट किया गया है कि यदि हाई कोलेस्ट्रॉल का इलाज सही समय पर न किया जाए तो यह दिल के दौरे या व्यक्ति की मौत का कारण भी बन सकता  है।

लेकिन, इसके बावजूद यह राहत की बात यह है कि किसी भी अन्य बीमारी की तरह हाई कोलेस्ट्रॉल का भी इलाज संभव है।


अत: यदि कोई व्यक्ति हाई कोलेस्ट्रॉल को कंट्रोल करना चाहता है तो वह इशके लिए इन 5 तरीकों को अपना सकता है-
 

  1. हेल्थी फूड खाना- जैसा कि ऊपर स्पष्ट किया गया है कि हाई कोलेस्ट्रॉल की बीमारी खराब भोजन करने की वजह से भी होती है।

    अत: सभी लोगों को अपने खान पान पर विशेष ध्यान रखना चाहिए और केवल हेल्थी फूड ही करना चाहिए।

     

  2. एक्सरसाइज़ करना- सभी लोगों के लिए एक्सरसाइज़ करना काफी लाभकारी माना जाता है  क्योंकि यह उन्हें सेहतमंद रहने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाती है।

    अत: सभी लोग को यह कोशिश करें कि वह दिन में कम-से-कम 20 मिनट एक्सरसाइज़ करनी चाहिए ताकि उन्हें किसी तरह की बीमारी न हो।

     

  3. धूम्रपान न करना- हाई कोलेस्ट्रॉल की बीमारी उन लोगों में संभावना अधिक होती है, जो धूम्रपान करते हैं।

    अत: किसी भी व्यक्ति को धूम्रपान नहीं करना चाहिए ताकि उन्हें कोई गंभीर बीमारी न हो।

     

  4. वजन को कम करना- किसी भी शख्स के लिए ज्यादा वजन होना नुकसानदायक साबित हो सकता है।

    इसी कारण, सभी लोगों को अपने वजन को नियंत्रण में रखना चाहिए और यदि तमाम तरीकों के बावजूद भी उनका वजन कम नहीं हो रहा है तो वे इसके लिए बेरियाट्रिक सर्जरी का सहारा ले सकते हैं।

     

  5.  शराब का सेवन न करना- हाई कोलेस्ट्रॉल की बीमारी उन लोगों को भी हो सकती है, जो अधिक मात्रा में शराब पीते हैं।

    इसी कारण, किसी भी व्यक्ति को शराब नहीं पीनी चाहिए क्योंकि इसका शरीर पर बुरा असर पड़ता है। 


 

जैसा कि हम सभी यह जानते हैं कि वर्तमान समय में कई सारी हेल्थ प्रॉब्लम फैल रही हैं, इनमें हाई कोलेस्ट्रॉल (High Cholestrol) भी शामिल हैं।

यह बीमारी इररेगुलर रुटिन के कारण होती है। अक्सर, लोगों को यह पता नहीं चलता है कि कब उन्हें यह बीमारी हो गई और जब उन्हें इस बात की भनक लगती है तो काफी देर हो चुकी होती है।

लेकिन, यदि लोगों को हाई कोलेस्ट्रॉल की पूरी जानकारी हो तो शायद वे भी इसका इलाज सही तरीके से कर सकते हैं।

इस प्रकार हमें उम्मीद है कि आपके लिए इस लेख को पढ़ना उपयोगी साबित हुआ होगा क्योंकि इसमें हमने हाई कोलेस्ट्रॉल से संबंधित जरूरी जानकारी देने की कोशिश की है।

 

यदि आप या आपकी जान-पहचान में कोई व्यक्ति स्वास्थ संबंधी किसी समस्या और उसके संभावित इलाज के तरीकों की अधिक जानकारी प्राप्त करना चाहता है तो वह 95558-12112 पर Call करके इसकी मुफ्त सलाह प्राप्त कर सकता है।