क्या होती है कैंसर सर्जरी (Cancer Surgery in Hindi)? जानें इसकी आवश्यक जानकारी

जब आपके डॉक्टर आपको यह बताते हैं कि आपको कैंसर हैं, तो उस समय आपके मन में बहुत सारे प्रश्न आ सकते हैं जैसे क्या मैं ठीक हो सकता हूं? मेरे लिए सबसे सही इलाज कौन सा है? क्या कैंसर का इलाज दर्दनाक होता है? कैंसर के इलाज में कितना समय लगता है? कैंसर के इलाज के दौरान और इसके बाद में मेरी ज़िदगी में किस तरह का बदलाव होगा? इन प्रश्नों का उत्तर जानने के लिए लोग बहुत बेचैन रहते हैं और इसके लिए वह हर तरह का प्रयत्न करते हैं।

यदि आप भी इन प्रश्नों का उत्तर प्राप्त करना चाहते हैं तो आपको इस लेख को पूरा पढ़ना चाहिए।

 


कैंसर सर्जरी क्या होती है? (Cancer Surgery in Hindi)
 

 

कैंसर सर्जरी एक बहुत ही महत्वपूर्ण सर्जरी है, जिसका उपयोग मुख्य रूप से कैंसर रोगियों का इलाज करने के लिए किया जाता है।

कैंसर सर्जरी का उपयोग कैंसर के ऑपरेशन के दौरान ट्यूमर और उसके आस- पास के ऊतकों (टिशू) को निकालने के लिए किया जाता है।

कैंसर सर्जरी को करने वाले डॉक्टर को ऑन्कोलॉजिस्ट के नाम से जाना जाता है और इस सर्जरी को कैंसर रोगियों के इलाज के लिए सबसे पुराने उपचारों में से एक माना जाता है।

यह पेट के कैंसर की सर्जरी है, जिसे पेट के साथ-साथ स्तन कैंसर की सर्जरी के लिए भी किया जाता है।

 


कैंसर सर्जरी को कराने के कौन-कौन से कारण होते हैं? (Indications of Cancer Surgery in Hindi)
 

 

कैंसर सर्जरी को कराने के मुख्य रूप से 5 कारण होते हैं, जो इस प्रकार हैं-

 

  1. कैंसर को रोकना- कैंसर सर्जरी , कैंसर को रोकने का सर्वोत्तम तरीका है। इसलिए डॉकटर कैंसर से पीड़ित व्यक्ति को कराने की सलाह देते हैं।

     

  2. डायग्नोसिस (रोग की पहचान) करना- डॉक्टर कैंसर सर्जरी को ट्यूमर को निकालने के लिए कर सकते हैं, जिसमें वे माइक्रोस्कोप के माध्यम से कैंसर का डायग्नोसिस (कैंसर की पहचान) करते हैं।

     

  3. डेबुलकिंग (Debulking) करना- कई बार कैंसर के सभी ट्यूमर को निकालना संभव नहीं होता है, ऐसी स्थिति में कैंसर सर्जरी के माध्यम से कैंसर के कुछ ट्यूमर को निकाला जाता है।

    इस प्रक्रिया को मेडिकल भाषा में डेबुलकिंग कहा जाता है।


     

  4. कैंसर के स्तर का पता लगाना- कैंसर सर्जरी डॉक्टर को इस बात का पता लगाने में सहायता करती है, कैंसर कितना बढ़ चुका है।

     

  5. कैंसर का शुरूआती इलाज करना- कई सारे ट्यूमर के लिए कैंसर सर्जरी सर्वश्रेष्ठ तरीका होती है, विशेषकर यदि कैंसर स्थानीयकृत हो और ज्यादा न फैला हो।

 


कैंसर सर्जरी के कितने प्रकार होते हैं? (Types of Cancer Surgery in Hindi)
 

 

कैंसर सर्जरी मुख्य रूप से 4 प्रकार की होती है, जो इस प्रकार है-


 

  1. डायग्नोस्टिक सर्जरी- डायग्नोस्टिक सर्जरी से तात्पर्य उस सर्जरी से है, जिसे ट्यूमर को निकालने के लिए किया जाता है।

    इस सर्जरी को मुख्य रूप से माइक्रोस्कोप के माध्यम से किया जाता है, जिसकी सहायता से इस बात का पता लगाया जाता है कि कैंसर कितना बढ़ चुका है।


     

  2. स्टेजिंग सर्जरी-  स्टेजिंग सर्जरी का उपयोग ट्यूमर के आकार का पता लगाने और इस बात का पता लगाने के लिए किया जाता है कि कैंसर शरीर के किस अंग में फैला हुआ है।

    अक्सर डॉक्टर कैंसर के आस-पास की लिम्फ नोड्स को निकाल देते हैं ताकि इस बात का पता लगाया जा सके यह शरीर में फैला है या नहीं।

    लिम्फ नोड्स मुख्य रूप से छोटे, बीन के आकार के अंग होते हैं, जो संक्रमण से लड़ने में सहायक होते हैं।


     

  3. कुरेटिव सर्जरी- कुरेटिव सर्जरी के द्वारा शरीर में मौजूद कैंसर के ट्यूमर को हटाया जाता है।

    सर्जन कुरेटिव सर्जरी का उपयोग उस स्थिति में करते हैं, जब कैंसर के ट्यूमर शरीर के किसी विशिष्ट अंग में मौजूद होते हैं।


     

  4. प्लैटिव सर्जरी- प्लैटिव सर्जरी कैंसर को ठीक नहीं करती है, लेकिन इस सर्जरी को मुख्य रूप से कैंसर के द्वारा होने वाली समस्या को कम करने के लिए किया जाता है।

    यह सर्जरी कैंसर रोगियों की ज़िदगी को बेहतर बनाने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाती है।

 


कैंसर सर्जरी की कितनी लागत होती है? (Cost of Cancer Surgery in Hindi)

 


जब कैंसर सर्जरी कराने की बात आती है, तो इसके लिए भारत में दिल्ली से बेहतर और कोई जगह हो नहीं सकती।


भारत की राजधानी होने के कारण, दिल्ली में कैंसर सर्जरी के लिए सबसे अच्छे अस्पताल और डॉक्टर मौजूद हैं।



कैंसर सर्जरी की लागत कई सारे तत्वों पर निर्भर करती है, जो इस प्रकार हैं-


 

  • अस्पताल

     

  • सत्रों की संख्या

     

  • कैंसर के प्रकार

     

  • कीमोथैरेपी की संख्या

     

  • मरीज की स्थिति

     

  • कैंसर का स्तर

 


कैंसर सर्जरी के सर्वोत्तम अस्पताल कौन- से हैं? (Hospital for Cancer Surgery in Hindi)

 

 

जैसा कि ऊपर स्पष्ट किया गया है कि कैंसर सर्जरी के लिए सबसे सही जगह दिल्ली-NCR ही है, इसलिए लोगों के मन में इस प्रश्न का आना स्वाभाविक है, कि दिल्ली में कैंसर सर्जरी के लिए कौन से उपयुक्त अस्पताल हैं।



इसी प्रश्न का उत्तर देने के लिए हम यहां पर दिल्ली-NCR के बेहतरीन अस्पतालों की सूची दे रहे हैं, जो इस प्रकार है-


 

  1. Jaypee Hospital- यह एक मल्टी स्पेशलिस्ट अस्पताल है, जहां पर कैंसर सर्जरी को किया जाता है।

     

  2. Max Hospital- आज कल यह अस्पताल अपने आधुनिक सेवाओं के लिए काफी लोकप्रिय हो रहा हैं, अत: आप भी इस अस्पताल में कैंसर सर्जरी करा सकते हैं।

     

  3. Sir Ganga Ram Hospital- यह अस्पताल दिल्ली के करोलबाग स्थित है, जहां पर आधुनिक यंत्रोें से कैंसर सर्जरी को किया जाता है।

     

  4. Fortes Hospital- आज कल बहुत सारे लोगों ने कैंसर सर्जरी के लिए इस अस्पताल को अपनाया है।

    इसकी दिल्ली-NCR में बहुत सारी शाखाएं हैं।


     

  5. Medanta Hospital- कई सारे राजनेताओं और मशहूर हस्तियों ने कैंसर सर्जरी के लिए इस अस्पताल को अपनाया है।

    यह अस्पताल गुरूग्राम में स्थित है।


     

  6. Batra Hospital- यह एक मल्टी स्पेशलिस्ट अस्पताल है, जो दिल्ली के राजेंद्र प्लेस में स्थित है।

    इस अस्पताल में अनुभवी सर्जनों द्वारा कैंसर सर्जरी को किया जाता है।


    नोट: ये सभी अस्पताल Letsmd के पैनल में शामिल हैं।

 

 

कैंसर सर्जरी के कौन-कौन से लाभ होते हैं? (Benefits of Cancer Surgery in Hindi)
 

 

कैंसर सर्जरी के मुख्य रूप से 4 लाभ होते हैं, जो इस प्रकार हैं-


 

  1. सबसे प्रभावशाली तरीके का होना- कैंसर को ठीक करने के लिए कैंसर सर्जरी को सबसे प्रभावशाली तरीका समझा जाता है।

     

  2. नया जीवन प्रदान करना- कैंसर सर्जरी  के द्वारा बहुत सारे कैंसर रोगियों को नया जीवन प्राप्त हुआ है।

     

  3. सेहत में सुधार करना- ऐसा कई बार देखा गया है कि कैंसर सर्जरी के बाद बहुत सारे लोगों की सेहत में सुधार हुआ है, और इस सर्जरी के द्वारा उनके स्वास्थ से संबंधित कई समस्याएं ठीक हो जाती हैं।

     

  4. कैंसर के फिर होने की संभावना को कम करना- कैंसर सर्जरी का यह महत्वपूर्ण लाभ है कि इसे कराने के बाद कैंसर के फिर से होने की संभावना काफी कम हो जाती है।

 

 

कैंसर सर्जरी के कौन-कौन से जोखिम होते हैं? (Side-Effects of Cancer Surgery in Hindi)
 

 

निसंदेह रूप से कैंसर सर्जरी कैंसर रोगियों के लिए एक वरदान है, लेकिन अन्य किसी भी तरह की सर्जरी की तरह कैंसर सर्जरी के भी कुछ जोखिम होते हैं, जिनके बारे में जानना अत्यंत आवश्यक होता है।


कैंसर सर्जरी के मुख्य रूप से 4 जोखिम होते हैं, जो इस प्रकार हैं-


 

  1. अत्याधिक दर्द होना- कुछ लोगों को कैंसर सर्जरी के बाद अत्याधिक दर्द हो सकता है।

     

  2. संक्रमण होना- कई बार कैंसर सर्जरी के बाद कुछ लोगों को संक्रमण हो सकता है।

     

  3. अंग का धीमा काम करना- डॉक्टर आपके शरीर में मौजूद कैंसर को हटाने के लिए उस पूरे अंग को निकाल देते हैं।

    इस वजह से कैंसर युक्त अंग के आस-पास के अंग भी काफी धीमी गति से कार्य करने लगते हैं।


     

  4. रक्तस्राव होना- कैंसर सर्जरी के बाद कुछ लोगों को अत्याधिक रक्तस्राव हो सकता है।

     

  5. ब्लड क्लोट्स का होना- जब किसी व्यक्ति की कैंसर सर्जरी पूरी हो जाती है, तो उसके बाद उस व्यक्ति में ब्लड क्लोट्स होने की संभावना अधिक रहती है।



 

जैसा कि हम सभी यह जानते हैं कि आज कल कैंसर सर्जरी उन लोगों के लिए काफी उपयोगी होती है, जो किसी भी तरह के कैंसर जैसे पेट के कैंसर या स्तन कैंसर से पीड़ित होते हैं।


डॉक्टर किसी भी व्यक्ति को कैंसर सर्जरी कराने की सलाह तब देते हैं, जब उसे किसी अन्य तरीकों से आराम नहीं मिलता है।

 

हालांकि, बहुत सारे लोग कैंसर सर्जरी को कराना चाहते हैं, लेकिन वे इसकी पूर्ण जानकारी न होने के कारण इसे करा नहीं पाते हैं।

बहुत सारे लोगों को यह पता नहीं होता है कि कैंसर सर्जरी पेट के कैंसर की सर्जरी के साथ-साथ स्तन कैंसर की सर्जरी है, इसलिए वे इसे कराने से हिचकते हैं।

 

इस दृष्टि से हमें उम्मीद है कि आपके लिए इस लेख को पढ़ना उपयोगी साबित हुआ होगा क्योंकि हमने इस लेख में कैंसर सर्जरी के लाभ और जोखिम से संबंधित आवश्यक जानकारी दी है।

 

अगर आप या आपकी जान-पहचान में कोई व्यक्ति कैंसर जैसी भयानक बीमारी से संबंधित हैं, तो उन्हें इसके विशेषज्ञ से मिलना चाहिए और इसका इलाज शुरू कराना चाहिए।

अगर वह कैंसर से संबंधित अन्य आवश्यक जानकारी प्राप्त करना चाहता है तो वह 955581-12112 पर Call करके मुफ्त सलाह ले सकता है।

 

इसके साथ में अगर वह कैंसर सर्जरी (Cancer Surgery in Hindi) को कराने में आर्थिक रूप से असमर्थ है तो वह इसके लिए Letsmd से 0% की ब्याज दर पर मेडिकल लोन ले सकता है।