क्या होती है ब्रेस्ट रिडक्शन सर्जरी? Breast Reduction Surgery In Hindi

ब्रेस्ट रिडक्शन सर्जरी (Breast Reduction Surgery) उन महिलाओं के लिए काफी लाभकारी साबित होती है, जो ब्रेस्ट के अत्याधिक आकार से परेशान रहती हैं।

हालांकि, किसी भी महिला के सौंदर्य को बढ़ाने में स्तन महत्वपूर्ण भूमिका निभाती हैं, लेकिन जब उनके बूब्स का आकार सही नहीं होता है, तो उन्हें इसकी वजह से स्वास्थ संबंधी कई सारी  समस्याओं जैसे गर्दन में दर्द होना, पीठ में दर्द होना इत्यादि हो सकती हैं।

इसके बावजूद यह राहत की बात है कि इस समस्या का समाधान मेडिकल सांइस के द्वारा संभव है।

दूसरे शब्दों में, यदि किसी महिला के स्तन का आकार कम है, तो वह इसे बढ़ाने के लिए ब्रेस्ट इंप्लांट सर्जरी का सहारा ले सकती है, वहीं दूसरी ओर यदि किसी महिला के स्तन का आकार जरूरत के ज्यादा है कि वह इसे कम करने के लिए ब्रेस्ट रिडक्शन सर्जरी का सहारा ले सकती है।

यदि आप भी इस सर्जरी की आवश्यक जानकारी से अनजान हैं, तो इसके लिए आपको इस लेख को जरूर पढ़ना चाहिए क्योंकि इसमें हमने स्तन के आकार को कम करने की सर्जरी की पूर्ण जानकारी देने की कोशिश की है।

Table of Contents

ब्रेस्ट रिडक्शन सर्जरी क्या होती है? (Breast Reduction Surgery in Hindi)

ब्रेस्ट रिडक्शन सर्जरी का तात्पर्य ऐसी सर्जरी से है, जिसे ब्रेस्ट के अधिक आकार को कम करने के लिए किया जाता है। इस सर्जरी को ब्रेस्ट मैमोप्लास्टी/ Boob Reduction के नाम से भी जाना जाता है।

दूसरे शब्दों में, ब्रेस्ट रिडक्शन सर्जरी ऐसी शल्य चिकित्सा (सर्जरी) है, जिसमें ब्रेस्ट पर मौजूद अतिरिक्त वसा, ऊतकों (टिशू) और त्वचा को कम किया जाता है।

इस सर्जरी को करने का मुख्य उद्देश्य स्तन के अधिक आकार को कम करना है, ताकि वह महिला के शरीर के अनुकूल हो सके।

जिसकी सहायता से ब्रेस्ट के अधिक आकार के कारण होने वाली असुविधाओं से छुटकारा पाया जा सकता है।

ब्रेस्ट रिडक्शन सर्जरी को कब किया जाता है? (Indications of Breast Reduction Surgery in Hindi)

ब्रेस्ट रिडक्शन सर्जरी को कराने की सलाह निम्नलिखित स्थितियों में ही दी जाती है:

  • ब्रेस्ट को कम करने के अन्य उपायों का असफल होना- जो महिला ब्रेस्ट के अधिक आकार की समस्या से पीड़ित होती है।

    वे इसे ठीक करने के लिए बहुत सारे तरीकों जैसे व्यायाम, योगा, दवाईयां, ग्रीन टी इत्यादि को अपनाते हैं।

    लेकिन बाकी तरीकों को अपनाने के बाद भी अगर इस समस्या के समाधान में सफलता नहीं मिलती तब ब्रेस्ट रिडक्शन सर्जरी  कराना जरूरी होता है।

  • ब्रेस्ट के अधिक आकार के कारण शारीरिक समस्या का होना-  अक्सर ऐसा देखा गया है कि जिन महिलाओं के ब्रेस्ट का आकार अधिक होता है, उन्हें अन्य शारीरिक समस्याएं जैसे गर्दन का दर्द, पीठ का दर्द, त्वचा संबंधी समस्या इत्यादि होती हैं।

    ऐसी स्थिति में उनका ब्रेस्ट रिडक्शन सर्जरी कराना उचित माना जाता है।

  • किसी शारीरिक गतिविधियों में हिस्सा न ले पाना- उन महिलाओं के लिए किसी भी शारीरिक गतिविधियों में हिस्सा लेना शर्मिंदगी भरा हो सकता है, जिनके ब्रेस्ट का अधिक आकार होता है और इसके साथ में उन्हें उनके कारण काफी दर्द से भी गुजरना पड़ता है।

    इन दोनों समस्या का समाधान ब्रेस्ट रिडक्शन सर्जरी से किया जा सकता है।

  • हर्नियेटेड डिस्क से पीड़ित होना- जिन महिलाओं को हर्नियेटेड डिस्क की परेशानी होती है, उन्हें ब्रेस्ट रिडक्शन सर्जरी कराने की सलाह दी जाती है।

  • पुरूषों में गाइनेकोमेस्टिया की समस्या का होना- अक्सर ऐसा देखा गया है कि कुछ पुरूषों में ब्रेस्ट ऊतक का विकास असमान्य रूप से हो जाता है। इस स्थिति को मेडिकल भाषा में गाइनेकोमेस्टिया (मैन बूब्स) कहा जाता है।

    इस समस्या से पीड़ित पुरूषों को भी ब्रेस्ट रिडेक्शन सर्जरी कराने की सलाह दी जा सकती है।

ब्रेस्ट रिडक्शन सर्जरी से पहले क्या किया जाता है? (Pre-Procedure of Breast Reducation Surgery in Hindi)

ब्रेस्ट रिडक्शन सर्जरी को महिला के संवेदनशील अंग ब्रेस्ट पर किया जाता है। अत: इस सर्जरी को काफी सावधानी से किया जाता है क्योंकि इसमें किसी भी तरह की लापरवाही बरतना उस महिला के जीवन के लिए घातक साबित हो सकता है।

इस सर्जरी को शुरू करने से पहले डॉक्टर महिला के स्वास्थ की अच्छी तरह से जांच करते हैं, जिसके लिए वे इन 5 कार्यों को करते हैं-

  1. मेडिकल हिस्ट्री की जांच करना-  किसी भी महिला की ब्रेस्ट रिडक्शन सर्जरी को करने से पहले डॉक्टर उसकी मेडिकल हिस्ट्री की जांच करते हैं ताकि इस बात का पता लगाया जा सके कि उस महिला को स्वास्थ से संबंधित कोई समस्या तो नहीं है।

  2. ब्रेस्ट की जांच करना- ब्रेस्ट रिडक्शन सर्जरी को करने से पहले डॉक्टर महिला के ब्रेस्ट की अच्छी तरह से जांच करते हैं, जिसमें उसके आकार को मापा जाता है, ताकि इस बात की पुष्टि हो सके कि ब्रेस्ट का आकार कितना है और सर्जरी से उन्हें कितना कम करना है।

  3. मैमोग्राम करना- ब्रेस्ट रिडक्शन सर्जरी से पहले महिला का मैमोग्राम किया जाता है।

  4. ब्रेस्ट की तस्वीर लेना- ब्रेस्ट रिडक्शन सर्जरी  को करने से पहले डॉक्टर महिला के ब्रेस्ट की तस्वीर लेते हैं, ताकि उसे मेडिकल रिकोर्ड के लिए रखा जा सके।

 

ब्रेस्ट रिडक्शन सर्जरी को कैसे किया जाता है? (Procedure of Breast Reducation Surgery in Hindi)

बेस्ट रिडक्शन सर्जरी  में कुछ बिंदू शामिल होते हैं, जिन्हे पूरी सावधानी के साथ किया जाता है ताकि इसे कराने वाली महिला को किसी तरह  की परेशानी न हो-

  1. स्टेप 1: मरीज को एनेस्थीसिया देना-  इस सर्जरी की शुरूआत महिला को एनीस्थीसिया देकर की जाती है, ताकि उसे इस पूरी सर्जरी के दौरान किसी तरह की असहजता महसूस न हो।

  2. स्टेप 2: अरेवला (areolae) के आस-पास कट लगाना-  जैसा ही एनेस्थीसिया का असर शुरू हो जाता है वैसे ही अरेवला के आस-पास कट लगाया जाता है।

  3. स्टेप 3: अतिरिक्त वसा, ऊतकों (टिशू) को हटाना-  अरेवला के आस-पास कट लगाने के बाद ब्रेस्ट पर मौजूद अतिरिक्त वसा, ऊतकों को हटाया जाता है। इसे लिपोसक्शन का उपयोग करके किया जाता है।

  4. स्टेप 4:अरेवला पर लगाए गए कट को ठीक करना- ब्रेस्ट के अतिरिक्त वसा, ऊतकोें को लिपोसेक्शन की सहायता से हटाने के बाद अरेवला पर लगे कट को ठीक किया जाता है।

    इसे करने के लिए डॉक्टर ड्रेनेज ट्यूब का उपयोग करते हैं। यह ब्रेस्ट रिडक्शन सर्जरी का अंतिम बिंदू होता है।

ब्रेस्ट रिडक्शन सर्जरी के बाद कौन-कौन से कार्य किए जाते हैं? (Post-Procedure of Breast Reducation Surgery in Hindi)

जैसा कि ऊपर स्पष्ट किया गया है कि ब्रेस्ट रिडक्शन सर्जरी को काफी सावधानी से किया जाता है।

चूंकि, इसके बाद का समय किसी भी व्यक्ति (पुरूष और महिला) के लिए काफी संवेदनशील होता है।

इसी कारण इस सर्जरी को कराने के बाद कुछ आवश्यक कार्यों को किया जाता है ताकि इस बात को सुनिश्चित किया जा सके कि  वह व्यक्ति स्वस्थ है-

  • सुधार कक्ष (रिकवरी रूम) में ले जाना-  जैसे ही ब्रेस्ट रिडक्शन सर्जरी पूरी हो जाती है, उसके तुरंत बाद महिला को रिकवरी रूम में ले जाया जाता है। जहां पर उसकी स्वास्थ स्थिति को मॉनिटर किया जाता है।

  • ब्रेस्ट को ढकना- इस सर्जरी के बाद ब्रेस्ट को ढका जाता है, जिसके लिए बैंडेज का उपयोग किया जाता है।

  • प्रत्येक बांहों में ट्यूब को लगाना- ब्रेस्ट रिडक्शन सर्जरी  के बाद महिला के दोनों बांहों में ट्यूब को लगाया जाता है ताकि अतिरिक्त रक्त या तरल पदार्थ शरीर से बाहर निकल सके।

  • एंटी-बायोटिक या दर्द निवारक दवाईयां देना- चूंकि, ब्रेस्ट रिडक्शन सर्जरी  के बाद का समय काफी संवेदनशील होता है, जिसमें किसी भी तरह का संक्रमण या दर्द हो सकता है।

    इसलिए इनसे बचाने के लिए महिला को कई दवाईयां जैसे एंटी-बायोटिक या दर्द निवारक दवाईयां दी जाती हैं।

दिल्ली-NCR में ब्रेस्ट रिडक्शन सर्जरी कराने की कितनी लागत होती है? (Breast Reduction Surgery Cost in Hindi)

जब बात ब्रेस्ट रिडक्शन सर्जरी कराने की बात आती है, तो इसके लिए दिल्ली-NCR से बेहतर और कोई जगह हो ही नहीं सकती है।

भारत की राजधानी होने के साथ-साथ दिल्ली-NCR में ब्रेस्ट रिडक्शन सर्जरी के लिए सर्वोत्तम अस्पताल/क्लीनिक मौजूद हैं।

दिल्ली-NCR में ब्रेस्ट रिडक्शन सर्जरी कराने की लागत 85,000 से 1.5 लाख होती है।

ब्रेस्ट रिडक्शन सर्जरी के कौन-कौन से जोखिम होते हैं? (Side-Effects of Breast Reducation Surgery in Hindi)

हालांकि, ब्रेस्ट रिडक्शन सर्जरी से बहुत सारी महिलाओं की ज़िदगी खुशियों से भर गई है इस रूप में ब्रेस्ट रिडक्शन सर्जरी नि:संदेह रूप से काफी लाभकारी प्रतीत होती है।

लेकिन, किसी भी अन्य मेडिकल प्रक्रिया की तरह ब्रेस्ट रिडक्शन सर्जरी के भी कुछ जोखिम होते हैं, जिनके बारे में जानना ऐसी महिला के लिए जरूरी है, जो भविष्य में इस सर्जरी को कराने की योजना बना रही है।

अत: यदि किसी महिला को उसके डॉक्टर ने ब्रेस्ट रिडक्शन सर्जरी कराने की सलाह दी है, तो उसे निम्नलिखित जोखिमों का सामना करना पड़ सकता है-

  • दाग होना : ब्रेस्ट रिडक्शन सर्जरी के बाद सर्जरी वाले हिस्से में कई बार निशान बन जाते है।

    यह निशान महिला की स्थिति और इस सर्जरी के दौरान किए गए चीरे के प्रकार पर भी निर्भर करती है।

    यह निशान  प्रारंभ में, निशान लाल होते हैं, जिनसे सूजन भी हो सकती है, लेकिन समय बीतने के बाद वे फीके पड़ जाते हैं।

  • ब्रेस्ट का समरूप ना होना : यदि निप्पल्स को सर्जरी के दौरान असमान रूप से रखा जाता है तो उनकी समरूपता ख़राब हो सकती है। दोनों स्तन अलग आकार के हो सकते है।

  • महसूस होने में कमी : यह सर्जरी का एक और जोखिम होता है कि इससे स्तन और निप्पल्स में संवेदनशीलता में कमी आ जाती है।

    कुछ महिलओं में यह कुछ महीनो तक रह सकती है, परन्तु कुछ महिलों में ये लम्बे समय तक टिक सकती है या स्थायी बन सकती है।

    कई बार सर्जरी के कारण स्तन तक होने वाला रक्त बहाव की प्रणाली में ख़राब हो जाती है जिसके कारण इसे ठीक होने में समय लग सकता है, जिसके कारण स्तनपान करना असंभव भी हो सकता है।

ब्रेस्ट रिडक्शन सर्जरी के बाद कौन-कौन सी सावधानियां बरतनी चाहिए? (Precaution in Breast Reducation Surgery in Hindi)

जैसा कि ऊपर स्पष्ट किया गया है ब्रेस्ट रिडक्शन सर्जरी के बाद संक्रमण या स्वास्थ संबंधी अन्य समस्याएं होने का खतरा काफी बढ़ जाता है।

लेकिन, इसके बाद यदि कोई महिला कुछ सावधानियों को बरते तो वह इन खतरों  को कम कर सकती है।

अत: यदि किसी महिला ने हाल ही में ब्रेस्ट रिडक्शन सर्जरी को कराया है, तो उसे इन 4 सावधानियों को बरतना चाहिए ताकि उसे स्वास्थ संबंधी कोई समस्या न हो-

  1. अधिक वजन वाली चीजों को न उठाना: ऐसी स्थिति में इसे कराने वाली महिला को किसी भी ऐसी वस्तु को नहीं उठाना चाहिए, जिसका अधिक वजन हो क्योंकि इससे उसे थकान महसूस हो सकती है।
  2. शारीरिक गतिविधियों को न करना: अक्सर, ब्रेस्ट रिडक्शन सर्जरी के बाद यह सलाह दी जाती है कि महिला को कुछ समय (दो से चार हफ्तों तक) किसी भी प्रकार की शारीरिक गतिविधि जैसे व्यायाम नहीं करना चाहिए।
  3. दवाईयों को समय पर लेना: ब्रेस्ट रिडक्शन सर्जरी के बाद डॉक्टर इस सर्जरी को कराने वाली महिला को जल्दी से ठीक होने के लिए कुछ दवाईयां देते हैं। इसलिए उसे इन दवाईयों को सही समय पर लेना चाहिए।
  4. डॉक्टर के संपर्क में रहना: यह सबसे महत्वपूर्ण चीज है जिसका पालन उन सभी महिलाओं को करना चाहिए जिन्होंने ब्रेस्ट रिडक्शन को कराया है।

    उन्हें तब तक डॉक्टर के संपर्क में रहना चाहिए जब तक वे उन्हें पूरी तरह से सेहतमंद घोषित न कर दें।

जैसा कि हम यह जानते हैं कि प्रत्येक महिला सेहतमंद रहना चाहती है और वह अपनी सेहत को बनाए रखने के लिए हर संभव कोशिश करती है।

लेकिन, फिर भी ऐसी बहुत सारी महिलाएं हैं, जो अपने ब्रेस्ट के अधिक आकार को लेकर काफी परेशान रहती हैं।

वे इस बात से अनजान होती हैं कि इस समस्या का समाधान किया जा सकता है और वे इस समस्या के साथ अपनी पूरी ज़िदगी बिता देती हैं।

लेकिन, यदि उन्हें यह पता हो कि ब्रेस्ट रिडक्शन सर्जरी (Breast Reduction Surgery in Hindi) सर्जरी नामक कॉस्मेटिक सर्जरी से इस समस्या का समाधान संभव है, तो शायद वे भी बेहतर ज़िदगी बिता सकें।

इस प्रकार हमें उम्मीद है कि आपके लिए इस लेख को पढ़ना उपयोगी साबित हुआ होगा क्योंकि हमने इस लेख में ब्रेस्ट के आकार को कम करने की कॉस्मेटिक सर्जरी है।

यदि आप या आपकी जान- पहचान में कोई महिला स्वास्थ संबंधी किसी समस्या और उसके इलाज के संभावित तरीकों की जानकारी प्राप्त करना चाहती है, तो वह इसके लिए 95558-12112 पर Call करके उसकी मुफ्त सलाह प्राप्त कर सकती है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *